जागरण संवाददाता, भागलपुर। फर्जी प्रमाण पत्र के जरिये शिक्षक की नौकरी पाने में निगरानी की तरफ से आरोपित बनाई गई पूर्णिया जिले के टीकापट्टी निवासी रितु कुमारी की संपत्ति जोगसर पुलिस कुर्क करेगी। जोगसर थाने में तैनात अवर निरीक्षक नवीन कुमार चौधरी ने न्यायालय में उसके विरुद्ध इश्तेहार निर्गत करने की अर्जी दे दी है। चौधरी ने बताया कि फर्जी शिक्षिका के रूप में पोल खुलने के बाद 13 दिसंबर 2016 को रितु कुमारी के विरुद्ध जोगसर थाने में धोखाधड़ी समेत अन्य गंभीर आरोप में केस दर्ज कराया गया था। मामले में उसके विरुद्ध पर्याप्त साक्ष्य होने पर वारंट निर्गत हुआ था लेकिन उसकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी। अब उसके विरुद्ध इश्तेहार के लिए न्यायालय में अर्जी दी गई है।

छात्रों की समस्याओं का नहीं हुआ तो होगा आंदोलन

तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय (टीएमबीयू) में बड़ी संख्या में छात्र अपने महत्वपूर्ण कार्यों को पूरा कराने के लिए भटक रहे हैं। बीएड समेत अन्य परीक्षाओं के परिणाम परीक्षा विभाग ने जारी कर दिया है। बावजूद इसके अबतक छात्र हर रोज अंकपत्र के लिए परीक्षा विभाग और विश्वविद्यालय के चक्कर लगा रहे हैं। ऐसे में हर रोज विवि के परीक्षा विभाग में हंगामे की स्थिति बन रही है।

गुरुवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्र नेता इन्हीं मुद्दों पर परीक्षा नियंत्रक डा. अरुण कुमार ङ्क्षसह से मिले। उन्हें कहा कि यदि समस्या का समाधान नहीं होता है तो वे लोग आंदोलन की राह अख्तियार करेंगे। प्रदेश कार्य समिति सदस्य कुणाल पांडेय ने कहा परीक्षा नियंत्रक से पार्ट वन 2019 का परीक्षा परिणाम जल्द प्रकाशित करने की मांग की गई। साथ ही पार्ट टू का परीक्षा फार्म भराने और स्नातक पार्ट वन 2020 की परीक्षा जल्द कराने की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि हर रोज छात्र अंक पत्र के लिए भटक रहे हैं, लेकिन उन्हें अंक पत्र नहीं मिल रहा। काफी संख्या में छात्र नौकरी हो जाने के बाद मूल प्रमाण पत्र के लिए भटक रहे हैं, ङ्क्षकतु उन्हें प्रमाण पत्र नहीं मिल रहा है। इसके लिए तरह-तरह के बहाने बनाए जाते हैं।

विद्यार्थी परिषद के नेताओं ने कहा कि परीक्षा विभाग में संसाधनों की पूर्ति नहीं होने से महत्वपूर्ण कार्य प्रभावित हो रहे हैं। इस मामले में यदि विवि प्रशासन कोई ठोस निर्णय नहीं लेता है तो जल्द आंदोलन की रूपरेखा तैयार की जाएगी। परीक्षा नियंत्रक के पास जाने वालों में कुणाल के अलावा रोहित कुमार और सूर्य प्रताप समेत अन्य मौजूद थे।

Edited By: Dilip Kumar Shukla