जागरण संवाददाता, पूर्णिया। रेंज आइजी सुरेश प्रसाद चौधरी ने अपने पुलिस विभाग में अपने पद पर रहने के दौरान नियम के विरुद्ध कार्य करने के आरोप में तीन दागी पुलिस पदाधिकारी को सेवा से बर्खास्त कर दिया। कटिहार एसपी की अनुशंसा पर कटिहार जिला के तीनों पुलिस पुलिस पदाधिकार पर बर्खास्तगी की कार्रवाई की गई है। इस कार्रवाई से पुलिस महकमा में हड़कंप मच गया है।

विभागीय कार्यवाही संचालित पुलिस पदाधिकारी और लापरवाह पुलिस पदाधिकारी के कान खड़े हो गये हैं।आइजी द्वारा किए गए कार्रवाई के जद में एक पुलिस अवर निरीक्षक दिलीप कुमार ओझा और दो सहायक अवर निरीक्षक जाकीर हुसैन और संजीव कुमार पासवान आए हैं। तीनों पुलिस पदाधिकारी पर अलग-अलग मामले में विभागीय कार्यवाही संचालित हो रही थी। विभागीय कार्यवाही में तीनों पुलिस पदाधिकारी को दोषी पाते हुए एसपी विकास कुमार के अनुशंसा पर आइजी ने तीनों पुलिस पदाधिकारी को बर्खास्त किया है।

पुलिस पदाधिकारी पर प्रमाणित आरोप

सेवा से बर्खास्त किए गए पुलिस अवर निरीक्षक दिलीप कुमार ओझा पर तत्कालीन बारसोई स्थित कचना ओपी प्रभारी थे। उस पर वर्ष 2018 और 2019 में दो मामला दर्ज किया गया था। थाना कांड संख्या 272/18 में धारा 302/120 (बी)/354/504/34 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी। वहीं बारसोई थाना कांड संख्या 281/19 में 25 (1बी) ए 26 आम्र्स एक्ट में दर्ज मामला में आपराधिक कारनामा का आरोप है।

कार्रवाई के घेरे में आए तत्कालीन सुधानी ओपी में पदस्थापित जाकीर हुसैन पर थाना में कांड संख्या 30/18 में मामला दर्ज किया गया था। उस पर सुधानी ओपी प्रभारी अवर निरीक्षक राकेश रमण को सरकारी कार्यों का निष्पादन के दौरान सरकारी रिवाल्वर से जानलेवा हमला कर जख्मी करने का आरोप था।

कटिहार के पोठिया ओपी में पदस्थापित संजीव कुमार पासवान पर थाना में कांड संख्या 288/19 के तहत मामला दर्ज किया गया था। उस पर वसूली के आरोप में भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर निलंबन बाद विभागीय कार्यवाही चल रही थी।

लापरवाह एवं दागी पुलिसकर्मी को किसी भी सूरत पर नहीं बख्शा जाएगा। किसी भी पद पर नियुक्त पुलिसकर्मी हो विभाग के गाइड लाइन के अनुसार काम नहीं करने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। -सुरेश प्रसाद चौधरी, आइजी

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021