भागलपुर (जेएनएन)। अगले वर्ष से (2019) से भागलपुर अपना स्थापना दिवस मनाएगा। सर्वमान्य तिथि तय करने के लिए एडीएम राजेश झा राजा की अध्यक्षता में समिति गठित की गई है। अब तक कोई निश्चित तिथि तय नहीं रहने के कारण बिहार दिवस के साथ ही भागलपुर का स्थापना दिवस मनाया जा रहा था।

यह जानकारी संवाददाता सम्मेलन में जिला पदाधिकारी प्रणव कुमार ने दी। डीएम ने बताया कि स्थापना दिवस की तिथि तय करने के लिए एडीएम की अध्यक्षता में गठित कमेटी 15 दिनों में प्रस्ताव देगी। डीएम ने बताया कि भागलपुर शहरी क्षेत्र अंतर्गत राष्ट्रीय उच्च पथ तथा शहर के अन्य पथों के किनारे लगे अवैध होर्डिंग को हटाया जाएगा।

इसके लिए नगर आयुक्त श्याम बिहारी मीणा, सदर एसडीओ आशीष नारायण और सिटी डीएसपी राजवंश सिंह को निर्देश दिया गया है। डीएम ने बताया कि ललित भवन की वर्तमान स्थिति के आकलन के लिए डीडीसी की अध्यक्षता में टीम का गठन किया गया है। उन्होंने बताया कि सदर अनुमंडल पदाधिकारी से जिला महिला सशक्तिकरण कार्यालय के भवन निर्माण के लिए भूमि चयन कर प्रस्ताव मांगा गया है।

डीएम ने बताया कि मुसहरी घाट और कहलगांव गंगा घाट को पर्यटकों की दृष्टि से विकसित करने की योजना है। दोनों ही घाटों पर पर्यटक सुविधा के तहत यात्री प्रतीक्षालय, रेस्टोरेंट सहित अन्य संसाधनों का विकास किया जाएगा। निकट भविष्य में कहलगांव से भी नौका परिचालन करने के लिए प्रस्ताव दिया जाएगा। सुल्तानगंज में गंगा घाट के किनारे के क्षेत्र को विकसित करने के लिए इंजीनियरों की टीम प्रोजेक्ट तैयार करेगी। डीएम ने कहा कि हवाई अड्डा में रनवे के विकास के लिए टेंडर हुआ है। दो करोड़ रुपये खर्च होंगे।

लाउंज को विकसित करने के लिए पांच लाख रुपये का प्रोजेक्ट है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी की निधि से भी हवाई अड्डे के विकास में काम होगा। उन्होंने कहा कि हवाई अड्डा, रनवे और लाउंज को विकसित किया जाएगा। यहां हवाई सेवा प्रारंभ करने के लिए अब तक किसी एजेंसी से प्रस्ताव प्राप्त नहीं है। संवाददाता सम्मेलन में उप विकास आयुक्त सुनील कुमार और प्रशिक्षु आईएएस अधिकारी तरनजोत सिंह थे।

Posted By: Dilip Shukla