जागरण संवाददाता, लखीसराय। बड़हिया रेलवे स्टेशन परिसर में पांच अनशनकारियों सहित उनके समर्थन में सैकड़ों लोगों की कड़ाके की सर्द-लहर के बीच पूस की रात कट रही है। पंडाल के अंदर खुले परिसर में ठंड से बचाव के लिए अलाव का इंतजाम भी किया गया है। मंगलवार को दूसरे दिन भी अनशन कार्यक्रम जारी रहा। अनशनकारी बड़हिया स्टेशन पर कोरोना के समय ट्रेनों के हटाए गए ठहराव को फिर से वापस करने की मांग कर रहे हैं।

रविवार से जारी अनिश्चितकालीन आमरण अनशन के 24 घंटा से अधिक बीत जाने के बाद भी रेलवे के किसी पदाधिकारी ने इसकी सुध नहीं ली है। रेफरल अस्पताल बड़हिया के चिकित्सक अभिषेक कुमार ने रविवार की रात एवं सोमवार को आमरण अनशन स्थल पर पहुंचकर अनशनकारियों के स्वास्थ्य की जांच की है। उन्होंने बताया कि सभी लोगों की बीपी जांच की गई अभी नियंत्रित है। अनशन कर रहे मनोरंजन कुमार, रामस्वारथ ङ्क्षसह, शिवदत्त, अखिलेश कुमार ङ्क्षसह एवं विकास कुमार (लड्डू) का हौसला बढ़ाने के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों के स्थानीय नेता और कार्यकर्ताओं के अलावा आम लोग भी पहुंच रहे हैं। रविवार की रात को अनशन स्थल पर ठंड से बचने के लिए अलाव की व्यवस्था की गई थी। रात बिताने के लिए सभी लोगों के लिए चंदा करके टेंट हाउस से तोसक, कंबल आदि की व्यवस्था की गई थी। अनशन स्थल पर चंदा के लिए दान पेटी लगाया गया है। अनशन पर बैठे लोगों ने बताया कि जब तक बड़हिया रेलवे स्टेशन सहित प्रखंड स्थित डुमरी, धीराडाढ एवं गंगासराय हाल्टों पर रुकने वाली ट्रेनों का अप एवं डाउन में फिर से ठहराव नहीं हो जाता है तब तक हमलोगों का आमरण अनशन जारी रहेगा।

जानकारी हो कि ट्रेन के ठहराव को लेकर रेल मंत्री एवं रेल विभाग के वरीय अधिकारियों सहित जिले के प्रशासनिक पदाधिकारियों को एक जनवरी को आवेदन दिया गया था, जिसमें 15 दिन की समय सीमा दी गई थी। अनशन स्थल पर अनशनकारियों के समर्थन में सैकड़ों ग्रामीणों के साथ कांग्रेस नेता अमरेश कुमार अनीस, नगर पंचायत उपाध्यक्ष मनोज कुमार ङ्क्षसह के अलावा संजय कुमार ङ्क्षसह, अंजनी कुमार, दीपक कुमार, संजय कुमार, दिवाकर कुमार छोटू, राकेश कुमार, कुंदन कुमार, गोलू ङ्क्षसह, संजीव कुमार सहित कई लोग मौजूद थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप