जागरण संवाददाता, भागलपुर। जिला परिषद चुनाव चल ही रही है। कई सीटों पर परिणाम आना बाकी है, किंतु जिप अध्यक्ष की कुर्सी के लिए अभी से ही लाबिंग तेज हो गई है। इस विवाद में जदयू के सांसद अजय मंडल और गोपालपुर के जदयू विधायक गोपाल मंडल के बीच जुबानी जंग छिड़ गई है। दरअसल, यह विवाद इंटरनेट मीडिया पर वायरल विधायक गोपाल मंडल के वीडियो के बाद शुरू हुआ है। जिसमें विधायक ने सांसद अजय मंडल पर शराब बनाने, चाइना कोरिया धागा की तस्करी, अफीम की खेती करने और पाङ्क्षसग गिरोह चलाने जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं। आरोपों पर सांसद अजय मंडल ने विधायक का नाम लिए बगैर कहा कि वे 'कीचड़ में ईंटा मारने का काम नहीं करते हैं।'

इंटरनेट मीडिया में वायरल वीडियो को बताया सही

इंटरनेट मीडिया पर वायरल वीडियो में कही बातों पर विधायक ने कहा कि उन्होंने सारी बातें सही कही है। उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी सविता देवी इस्माइलपुर से जिला परिषद की उम्मीदवार हैं। सांसद उनके खिलाफ लाङ्क्षबग कर रहे हैं। उन्होंने निर्वतमान जिप अध्यक्ष अनंत कुमार उर्फ टुनटुन साह को भी निशाने पर लिया है। विधायक ने कहा कि इस बार उनकी पत्नी को छोड़ टुनटुन साह ही नहीं कोई जिला परिषद अध्यक्ष नहीं बनेगा।

मेरे कहने पर सीएम नीतीश ने दिया था अजय मंडल को सांसद का टिकट

विधायक ने कहा कि अगले लोकसभा चुनाव में अजय मंडल को टिकट नहीं मिलेगा। उनकी जगह अब वे भागलपुर का सांसद बनेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव में अजय मंडल को टिकट देने के लिए उन्होंने खुद नीतीश से कहा था। उनके कहने पर ही सीएम ने सांसद का टिकट दिया था। इस बार अब उन्हें निशान नहीं मिलेगा। पिछली बार लाखों वोट का फायदा दिलाया था।

जो जैसा रहता है सामने वाले को वैसा ही समझता है

विधायक द्वारा लगाए गए आरोपों और बयानबाजी को लेकर सांसद ने विधायक का नाम लिए बगैर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि उनकी बातों को वे गंभीरता से नहीं लेते हैं। इसके साथ उन्होंने विधायक के बारे में कहा कि 'जो जैसा रहता है, वो सामने वाले को भी वैसा ही समझता है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla