भागलपुर, ऑनलाइन नेटवर्क। Bihar Bhagalpur Lockdown AGAIN: कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण बिहार में पूर्ण लॉकडाउन (Complete Lockdown)  लगा दिया गया है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar CM Nitish Kumar) ने इसकी जानकारी दी। साथ ही उन्‍होंने Twitter पर इसे पोस्‍ट किया। अब बिहार राज्‍य में 15 मई तक पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। हालांकि विस्‍तृत गाइडलाइन आपदा प्रबंधन समूह (Crisis Management Group) से मंत्रणा के बाद आ शाम को जारी की जाएगी।

बिहार में पूर्ण लॉकडाउन लगाने के लिए कई संगठन और राजन‍ीति दलों के कार्यकर्ता की मांग कर रहे थे। इस संबंध में बिहार हाईकोर्ट (Bihar Highcourt) ने भी राज्‍य सरकार (Bihar Government) से जवाब मांगा था। इस बीच हम के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि लॉकडाउन से गरीबों को नुकसान होगा।

लॉकडाउन के बाद भागलपुर के बाजारों में एक बार भीड़ उमड़ पड़ी। हालांकि अभी लोगों को पता नहीं है कि लॉकडाउन में क्‍या खुलेगा और क्‍या बंद रहेगा। यातायात सेवा पर क्‍या प्रभाव पड़ेगा। बस आदि चलेंगे या नहीं। शहर में छोटे-छोटे वाहनों का परिचालन होगा या नहीं। लेकिन पिछले वर्ष लगे लॉकडाउन के आधार पर लोग मूल्‍यांकन कर रहे हैं। 15 मई तक लगने वाले लॉकडाउन का असर भागलपुर के बाजार पर नहीं पड़ेगा। भागलपुर के खाद्य-तेल की थोक मंडियों में सामान का पूरा स्टॉक है। करीब दो माह तक शहरवासियों और दुकानदारों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। लॉकडाउन लंबी खिंची तो सामानों की आपूर्ति की जाएगी।

विस्‍तृत गाइडलाइन

आज शाम मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) आपदा प्रबंधन समू‍ह की बैठक की। जिसमें लॉकडाउन पर विस्‍तृत गाइडलाइन तैयार की गई। इससे पहले हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा है कि बिहार में लॉकडाउन लगाने की क्या तैयारी है। न्यायमूर्ति चक्रधारी शरण सिंह और न्यायमूर्ति मोहित कुमार शाह की खंडपीठ ने सरकार के सिस्टम को फ्लॉप बताया। नाराजगी व्‍यक्‍त करते हुए कहा था कि - कोरोना की रोकथाम के लिए सरकार के पास कोई ठोस इंतजाम नहीं है। ऐसे में लॉकडाउन क्‍यों नहीं लगाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें - Bhagalpur Lockdown: हड़बड़ाइएं नहीं, लॉकडाउन का नहीं दिखेगा खाद्य सामग्रियों पर असर, मंडी में है पूरा स्टॉक