भागलपुर [अमरेंद्र कुमार तिवारी]। भागलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज के कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग थर्ड इयर के छात्र सुरेश कुमार ने ट्यूटर फॉर यू एप तैयार किया है। यह पढऩे और पढ़ाने वालों के बीच की दूरी को कम करेगा। साथ ही लर्निंग के साथ अर्निंग का भी अवसर प्रदान करेगा।

अक्सर अभिभावक की यह चाहत होती है कि कोई अच्छा ट्यूटर घर पर बच्चों को पढ़ाने आए, पर वे अच्छे शिक्षक को ढूंढ नहीं पाते हैं। वहीं शिक्षकों को भी पढ़ाने के लिए बच्चे नहीं मिल पाते। इस समस्या को दूर करने और ट्यूशन के लिए शिक्षक और अभिभावकों की कड़ी जोडऩे के लिए यह एप तैयार किया गया। अब इस एप के माध्यम से कोई भी अभिभावक अपने बच्चों के लिए योग्य शिक्षक ढूंढ पाएंगे। साथ ही सामान्य या तकनीकी कॉलेजों के वैसे छात्र जो पढ़ाई के क्रम में अपना आर्थिक संकट भी कम करना चाहते हैं वे भी इस एप के सहारे लर्निंग के साथ-साथ संस्थान के इर्द-गिर्द बच्चों को ट्यूशन पढ़ा कर अपना आर्थिक संकट दूर कर पाएंगे। सुरेश ने बताया कि इस स्टार्टअप एप में ट्यूशन के जरिये संभावनाओं की तलाश की गई है। इसके लिए पटना एवं भागलपुर के एक हजार से अधिक अभिभावकों का ऑनलाइन सर्वे किया है। इनमें 78 फीसद लोगों ने इस स्टार्टअप को समय की मांग बताया है। इसके बाद एप पर काम शुरू किया। लॉकडाउन समाप्त होने के बाद इस एप में शिक्षकों का डाटा अपलोड किया जाएगा। तैयार एप की यह भी खासियत होगी कि इसपर अभिभावक अपना फीडबैक भी दे सकेंगे। इसके आधार पर शिक्षकों की रेटिंग निर्धारित होगी। इस एप के माध्यम से पहली से 12वीं तक के बच्चों को पढ़ाने के लिए होम ट्यूटर उपलब्ध कराया जाएगा। इसकी सफल शुरुआत भागलपुर से की जाएगी। सफलता मिलने पर आगे इसका विस्तार किया जाएगा। छात्र सुरेश ने कहा कि कॉलेज के स्टार्टअप सेल ने इसे स्वीकृत कर लिया है।

पढ़ाई में पैसा बना बाधक तो आया आइडिया

सुरेश ने कहा कि सरकारी तकनीकी संस्थानों में ज्यादातर छात्र ग्रामीण क्षेत्रों से आते हैं। पढ़ाई में आर्थिक संकट सबके लिए परेशानी का सबब बनता है। इसे कैसे दूर करें। पढ़ाई के अलावा कुछ बचे समय का उपयोग ट्यूशन पढ़ा कर आर्थिक संकट दूर किया जा सकता है। पर आसपास में ट्यूशन हम अपरिचित युवा को मिले तो कैसे। इन तमाम मुद्दों पर विचार मंथन के बाद यह स्टार्टअप का आइडिया आया।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस