जागरण संवाददाता, भागलपुर : जिला शिक्षा परियोजना और साईट सेवर्स की ओर से दृष्टि बाधित छात्र-छात्राओं के लिए डे केयर सेंटर में आयोजित छह दिवसीय प्रशिक्षण मंगलवार को संपन्न हो गया। 22 सितंबर से शुरू हुए गैर आवासीय आइसीटी प्रशिक्षण शिविर में 14 दृष्टि बाधित दिव्यांग छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। मंगलवार को डीएम सुब्रत कुमार सेन ने डे केयर सेंटर पहुंच कर प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले 11 बच्चों को मोबाइल और तीन बच्चों को लैपटाप प्रदान किए।

डीएम ने साइट सेवर्स के जिला समन्वयक राजन सिंह से दिव्यांग बच्चों के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रम के बारे में जानकारी ली। राजन सिंह ने डीएम को बताया कि कहलगांव में स्पर्श कार्यक्रम के तहत दिव्यांग छात्रों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। वहीं, सुल्तानगंज कस्तूरबा में दिव्यांग छात्राओं को प्रशिक्षण दिया जाता है। साइट सेवर्स की ओर से दिव्यांग छात्र छात्राओं को मोबाइल, डीजी प्लेयर, लैपटाप जैसे उपकरण उपलब्ध कराए जाते हैं। जिसके जरिये वे आसानी से पढ़ाई कर सकें। दिव्यांग छात्र-छात्राओं की उपलब्धियों की जानकारी से डीएम अभिभूत नजर आए।

डीएम ने बच्चों से ब्रेल लिपी में लिखी पुस्तक भी पढ़वा कर देखा। डीएम ने कहा कि आप लोग अपने अंदर के विशेष गुण को पहचान कर अपनी प्रतिभा को निखारें। कभी अपने को कमजोर महसूस नहीं करें। डीएम ने सचिन तेंदुलकर का उदाहरण देते हुए कहा कि वे पढ़ाई के क्षेत्र में बहुत बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाएं हो, लेकिन अपनी खेल प्रतिभा के बल पर उन्होंने पूरी दुनिया में अपना नाम कमाया। आने वाली पीढ़ी भी तेंदुलकर को याद करेगी।

वहीं, जिला शिक्षा पदाधिकारी और साइट सेवर्स के प्रतिनिधियों से डीएम ने कहा कि आप बेहतर काम कर रहे हैं, लेकिन इसका लाभ जिला के अधिक से अधिक दिव्यांग छात्र-छात्राओं को मिले, इस दिशा में कार्य करने की जरूरत है। इस अवसर पर जिला आपूर्ति पदाधिकारी अंजनी श्रीवास्तव, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना नितेश कुमार, संसाधन शिक्षक धनंजय कुमार, प्रशिक्षक राम सिंह यादव, कोमल कुमारी, विकास कुमार आदि मौजूद थे।

  • इन बच्चों को मिला मोबाइल: स्वाति कुमारी, नेहा भारती, गुंजन कुमारी, राधा कुमारी, मोनी कुमारी, रैना कुमार, प्रशांत कुमार, सुमित कुमार,
  • इन्हें मिला लैपटाप : आशीष कुमार, रूपा कुमारी, अंकुश कुमार

Edited By: Shivam Bajpai

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट