भागलपुर [जेएनएन]। जिला परिषद् अध्यक्ष ने मनरेगा के कार्यपालक अभियंता से सिर्फ भागलपुर जिले में काम लेने और जिले में चल रही योजनाओं का क्रियान्वयन कराने की मांग प्रमंडलीय आयुक्त और डीएम से की है। जिप अध्यक्ष अनंत कुमार उर्फ टुनटुन साह ने आयुक्त और डीएम को लिखे पत्र में कहा है कि मनरेगा के कार्यपालक अभियंता अशोक कुमार मेहता भागलपुर में नियुक्त हैं एवं मुंगेर जिले में प्रतिनियुक्त हैं।

भागलपुर जिले में मनरेगा के अलावा सात निश्चय का कार्य बिना सहायक अभियंता के सत्यापन के किया जा रहा है। कार्यपालक अभियंता इस क्रम में तकनीकी स्वीकृति बिना सत्यापन के कर रहे हैं। क्षेत्र भ्रमण के दौरान उन्हें इस तरह की शिकायत मिली है। यहां उनकी मंशा कुछ और है। मुंगेर जिला में भी मनरेगा के अलावा सात निश्चय एवं जिला परिषद् की योजनाओं पर भी वे कार्य कर रहे हैं। अध्यक्ष ने डीएम और आयुक्त से कहा है कि दो जिलों में बिना सहायक अभियंता के सत्यापन के कार्य हो रहा है, जिसमें अनियमितता की संभावना रहती है। पंचायतों में चल रही योजनाओं का स्थल निरीक्षण भी नहीं किया जाता है। अध्यक्ष ने पूरे मामले की जांच किसी सक्षम पदाधिकारी से कराने और पदस्थापन एक ही जिले में रखने का अनुरोध किया है।

उधर, जिप अध्यक्ष ने भागलपुर जिले में वैसे दुकानों जिनका एकरारनामा रद हो गया है या तिथि समाप्त हो गई है, उन दुकानों के खिलाफ आगे की कार्रवाई करने के लिए डीएम से हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है। अध्यक्ष ने कहा है कि दो बार उप विकास आयुक्त का इस संबंध में ध्यान आकृष्ट कराया गया है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है जिससे सभी सदस्यों में आक्रोश है।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस