संवाद सहयोगी, नवगछिया। रंगरा चौक ओपी क्षेत्र में पंचायती के दौरान जमीन विवाद को लेकर सेवानिवृत्त सैनिक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। घटना एनएच 31 स्थित भवानीपुर में ढाबा पर हुई। मृतक भवानीपुर निवासी उपेंद्र यादव का पुत्र अजय यादव था। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

इस संबंध में मृतक के भाई विजय यादव ने बताया कि हम लोगों ने आठ वर्ष पूर्व डेढ़ बीघा जमीन खरीदी थी। उसमें से 10 क_ा जमीन दूसरे भाई से गांव के ही गोपाल यादव उर्फ गोपी सरदार ने लिखवा ली। उसी 10 क_ा जमीन को लेकर विवाद था। भूतपूर्व सैनिक अजय यादव जमीन संबंधी पंचायत के लिए एनएच 31 किनारे ढाबा में बैठा हुआ था। दूसरे पक्ष के लोग गोपी सरदार भी थे। इसी दौरान गोपी सरदार के पुत्र धनंजय यादव ने अजय यादव को सीने में गोली मार दी। गंभीर रूप से घायल अजय को स्वजनों ने इलाज के अनुमंडल अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में जांच करने के पश्चात चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया।

अस्पताल में पुलिस को स्वजनों के आक्रोश का सामना करना पड़ा

घटना की जानकारी पाकर रंगरा ओपी प्रभारी महताब खां, परवत्ता के प्रभारी थानाध्यक्ष रामचंद्र यादव, गोपालपुर के प्रभारी थानाध्यक्ष भरत भूषण, प्रशिक्षु डीएसपी, नवगछिया सर्किल इंसपेक्टर भरत भूषण व भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद था। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम के लिए अनुमंडल अस्पताल में प्रक्रिया आरंभ की। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा कर अंतिम संस्कार के लिए स्वजनों को सौंप दिया।

चार चक्का से 20 की संख्या में अपराधी घटना को अंजाम देने पहुंचे थे

विजय यादव ने बताया कि चार गाड़ी चारपहिया वाहन से घटना को अंजाम देने के लिए 20 की संख्या में अपराधी वहां पर पहुंचे थे। धनंजय यादव के द्वारा गोली मारने के पश्चात उसे पकडऩे का प्रयास किया तो गोपी सरदार के ड्राइवर ने भी गोली चला दी। घटना को अंजाम देने के पश्चात सभी आरोपित चारपहिया वाहन पर सवार होकर फरार हो गए।

एक ही जमीन का दो लोगों को केबाला कर दिया

धरहरा गांव के व्यक्ति से फौजी ने डेढ़ बीघा जमीन आठ वर्ष पहले खरीदी थी। उस जमीन में से 10 क_ा जमीन दोबारा जमीन मालिक के दूसरे भाई ने तीन माह पूर्व गोपी सरदार को कर दिया था। इस जमीन पर दोनों पक्ष के लोग दावा कर रहे थे।

महिलाओं के विलाप से पूरा अस्पताल दहल रहा था

पूर्व सैनिक की हत्या के पश्चात महिलाओं को विलाप से अस्पताल दहल रहा था। पत्नी ङ्क्षपकी देवी घर की महिलाओं के साथ विलाप करके रो रही थी। पुत्री मौसम कुमारी, छोटी कुमारी, प्राची कुमारी, रत्न प्रिया व पुत्र केशव कुमार का भी रो रोकर बुरा हाल था।

अजय यादव तीन भाई हैं

पूर्व सैनिक तीन भाई हैं। एक भाई संजय यादव की मौत पूर्व में ठनका के चपेट में आने से हो गई। पूर्व सैनिक की मौत के पश्चात अकेला विजय बचा हुआ हैं।

एसपी ने बताया

नवगछिया एसपी सुशांत कुमार सरोज ने बातया कि विवादित जमीन पर धारा 144 भादवि लगा हुआ हैं। इस विवाद को निपटाने के लिए वे लोग ढाबा पर बैठकर पंचायती कर रहे थे। इसी दौरान धनंजय यादव ने गोली मारकर हत्या कर दी। घटना की प्राथमिकी मृतक के परिजनों द्वारा लिखित प्रतिवेदन मिलने के पश्चात की जाएगी। पुलिस आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी कर रही हैं।  

Edited By: Abhishek Kumar