जागरण संवाददाता, भागलपुर। जिले में शुक्रवार को एक कोरोना संक्रमित मिला है। जो भागलपुर का है। सिविल सर्जन डा उमेश शर्मा ने कहा कि कोतवाली चौक स्थित मोहल्ले के निवासी पूर्व महापौर का आरटीपीसीआर जांच में कोरोना संक्रमित मिले। पूर्व में भी एंटीजन किट की जांच में संक्रमित मिले थे। जिले में अबतक 25809 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें 25488 लोग स्वस्थ हुए और 308 लोगों की मौत हुई है। सक्रिय मरीजों की संख्या 12 है। वहीं रिकवरी रेट 98.75 फीसद है। गुरुवार को एक भी संक्रमित नहीं मिला था।

कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए तैयारी अधूरी

कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए अभी मायागंज अस्पताल तैयार नहीं हो पाया है। तैयारी अधूरी है, अगस्त में पूरी होने की संभावना है। वहीं अस्पताल में ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट भी बनकर तैयार नहीं हुआ है जबकि सदर अस्पताल में भी ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट का निर्माण पूरा होने में वक्त लगेगा।

ऐसी संभावना जताई जा रही है कि कोरोना की तीसरी लहर में ज्यादातर बच्चे प्रभावित होंगे। देखा जाय तो केवल जुलाई में जिले में सात बच्चे कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। हालांकि अभी कोरोना की तीसरी लहर नहीं है। मायागंज अस्पताल के इंडोर शिशु विभाग में 10 बेड का चाइल्ड कोविड का निर्माण किया जा रहा है। लेकिन अभी तक ऑक्सीजन पाइप लगाने की ही व्यवस्था हो रही है। कई दवाओं की आपूर्ति भी नहीं की गई है।

39 वेंटीलेटर पहले से अस्पताल में रखा हुआ है, उसका उपयोग किया जाएगा। करीब 50 मॉनीटर की आपूर्ति अभी होनी है। साथ ही ऑक्सीजन की मात्रा की जानकारी के लिए उपकरण की भी मांग सरकार से की गई है। हालांकि नर्सों को कोरोना मरीजों के इलाज के लिए प्रशिक्षण गत एक माह से दिया जा रहा है। ताकि डाक्टर के आने के पहले नर्से इलाज प्रारंभ कर सकें।

ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट का निर्माण भी अधूरा

मायागंज अस्पताल में ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट का निर्माण भी अधूरा है। पाट््र्स चोरी होने की वजह से अभी तक पाट््र्स की आपूर्ति नहीं की गई है। बताया गया कि अगले सप्ताह उपकरण की आपूर्ति की जाएगी। तत्काल फिर चोरी ना हो इसके लिए दो बंदूकधारी सुरक्षा गार्ड की ड्यूटी लगाई गई है। प्लांट का निर्माण पूरा होने पर 80 बेडों पर ऑक्सीजन की आपूर्ति की जाएगी वहीं एक घंटा में 60 से ज्यादा ऑक्सीजन सिलेंडर की रिफिङ्क्षलग की जाएगी। सदर अस्पताल और कहलगांव में ऑक्सीजन प्लांट निर्माण के लिए सामग्री शुक्रवार को आपूर्ति की गई है। अगस्त में निर्माण कार्य पूरा होने की संभावना है। अभी नवगछिया में ऑक्सीजन प्लांट निर्माण की सामग्री नहीं भेजी गई है। वहां निर्माण कार्य भी प्रारंभ नहीं किया गया है।  

Edited By: Abhishek Kumar