बांका, जेएनएन। Banka News पिछले सप्ताह बांका जिले के अमरपुर  प्रखंड अंतर्गत  भदरिया गांव के समीप चांदन नदी में प्राचीन भवनों का अवशेष मिला था। जिसकी जांच के लिए पटना पुरातत्व विभाग की टीम शुक्रवार को भदरिया गांव पहंची है। तीन सदस्यीय टीम गांव से चांदन नदी में पहुंची जहां मिले स्थल पर प्राप्त ईंट सहित मृदुभाड़ आदि के टुकड़े की जांच की। टीम में शामिल सदस्यों ने बताया कि भवनों के अवशेष की सघन जांच के बाद  रिपोर्ट पुरात्व विभाग को दी जाएगी। सदस्यों ने बताया कि प्राचीन भवनों के अवशेष को देखने से यह स्‍पष्‍ट हो पाया है कि इस भवन में जो ईंट का प्रयोग किया गया है वह लखौरी ईंट है । इस तरह के ईंट का उपयोग पांचवी शताब्दी से 16 शताब्दी तक लोग भवन निर्माण के लिए किया करते थे।

छठ पूजा  घाट बनाने के क्रम में मिला था अवशेष 

भदरियां गांव में ग्रामीणों द्वारा छठ  पूजा को लेकर घाट बनाया जा रहा था, उसी क्रम में युवाओं को पुराने भवन के अवशेष होने का पता चला। इसको लेकर ग्रामीणों की उत्‍सुकता बढ़ गई। उन्‍होंने ने इसकी  जानकारी स्थानीयको जदयू के युवा विधायक जयंत राज को दी। विधायक ने ग्रामीणों की उत्‍सुकता को गंभीरता से लेते हुए उन्‍हें भरोसा दिया कि इस मामले से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अवगत कराया जाएगा। उन्‍होंने जैसी ही मुख्‍यमंत्री को इसकी जानकारी दी उन्‍होंने तुरंत संज्ञान लिया। इसके बाद ही  पटना से पुरात्व विभाग की तीन सदस्‍यीय टीम भगदरिया  पहुंची है। एक सवाल के जबाव में बांका के डीएम सुहर्ष भगत ने कहा क‍ि पुरात्‍व विभाग की टीम की जांच रिपोर्ट आने के बाद ही यहां के ऐतिहासिक महत्‍व के बारे में  कुछ कहा जा सकता है। हालांकि अपने विधायक के पहल पर पुरात्‍व विभाग की टीम भदरिया पहुंचने पर ग्रामीणों में काफी हर्ष है। यहां के बुजुर्गो का कहना है कि एक समय में भदरिया का ऐतिहासिक एवं धार्मिक महत्‍व रहा है। यहां कई ऐसे पुराने मंदिर हैं जिसका खास आध्‍यात्मिक महत्‍व है। 

Edited By: Amrendra Tiwari