भागलपुर। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के विलय के विरोध में ऑल इंडिया बैंक इंप्लाइज एसोसिएशन एवं बैंक इंप्लाइज फेडरेशन ऑफ इंडिया से जुड़े बैंक कर्मचारी मंगलवार को देशव्यापी हड़ताल पर रहे। एसबीआइ को छोड़ सभी बैंकों में ताला लटका रहा। शहर के अधिकांश एटीएम भी बंद रहे। इस हड़ताल में 500 ज्यादा बैंक कर्मियों ने शामिल होकर आवाज बुलंद की, जिससे 100 करोड़ के करीब कारोबार प्रभावित हुआ।

रुपये की जमा निकासी व चेक क्लीयर नहीं हुआ। ऑफिसर्स यूनियन ने भी इसे नैतिक समर्थन दिया। बैंक कर्मचारियों ने राधा रानी सिन्हा रोड स्थित बैंक ऑफ इंडिया एवं इलाहाबाद आचलिक कार्यालय के समाने धरना प्रदर्शन किया। सरकार के विरोध में नारेबाजी की। एआइबीइए के अरविंद कुमार रामा ने कहा कि सरकार के बैंकों के विलय की नीति के विरोध मे हड़ताल की गई। विलय पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए किया जा रहा है। हड़ताल में बीइएफआइ के प्रवीण कुमार, एनके सिन्हा, तारकेश्वर घोष, गोपेश कुमार, नितेश कुमार, सुमित कुमार झा, शशि कुमार, अजय, छाया, अमिता पाडेय, शारदा कुमारी, सोनम, अलका कुमारी आदि ने शामिल रहे।

घूम घूमकर बंद कराया प्राइवेट बैंक

दोपहर में ऑल इंडिया बैंक इंप्लाइज एसोसिएशन(एआइबीए) एवं बैंक इंप्लाइज फेडरेशन ऑफ इंडिया(बीइएफआइ)के बैनर तले बैंक कर्मचारियों ने घूम-घूम कर प्राइवेट बैंक को बंद कराया। इस कारण दोपहर बाद प्राइवेट बैंकों में भी ताला लटक गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप