भागलपुर [जेएनएन]। नवगछिया पुलिस अनुमंडल स्थित भारतीय स्टेट बैंक का खजाना कई दिनों से खाली है। चेस्ट में पैसे की कमी के कारण हालत इतनी खराब है कि एटीएम में रुपये डालने तक के लिए कैश नहीं है। वहीं, ग्राहकों को भी कैश का भुगतान नहीं किया जा रहा है। इस कारण ग्राहकों और बैंक कर्मियों के बीच रोज कहासुनी हो रही है। मंगलवार को भी झंडापुर और खरीक शाखा में ग्राहकों ने कैश भुगतान के लिए हंगामा किया। कैश का सीधा असर शादी-विवाह पर पड़ रहा है। कैश ले जाने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने बैंक को कई बार बुलाया भी। पर, बैंक कर्मियों को कैश लाने के लिए पुलिस बल नहीं मिलने से कैश नहीं ला जा रहा है। बैंक ने अब तक तीन से चार बार पुलिस पदाधिकारियों से गुहार भी लगा चुकी है।

दरअसल, नवगछिया अनुमंडल क्षेत्र में एसबीआइ की कुल 17 एटीएम संचालित है। यहां बैंक का खुद चेस्ट होने के कारण कैश की आपूर्ति सीधा आरबीआइ से होती है। करीब दो सप्ताह से चेस्ट में कैश न के बराबर है। इस कारण न तो एटीएम में पैसे डाले जा रहे हैं और न ही शाखाओं से ग्राहकों को भुगतान किया जा रहा है।

जमा किए गए पैसे से चल रहा एटीएम

चेस्ट में कैश नहीं रहने से स्थिति काफी भयावह है। हालात यह है कि बैंक में जो ग्राहक पैसा जमा करते हैं, वही कुछ राशि ग्राहकों को भुगतान किया जा रहा है। जब तक चेस्ट में कैश नहीं आ जाते हालत में सुधार होना संभव नहीं दिख रहा है।

यूको सहित दूसरे बैंकों में कैश की दिक्कत नहीं

नवगछिया में भारतीय स्टेट बैंक, यूको बैंक, इलाहाबाद बैंक, दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक सहित अन्य बैंकों की शाखाएं हैं। इसमें एसबीआइ को छोड़कर अन्य दूसरों बैंकों में कैश का संकट नहीं है। इस कारण इन बैंकों के ग्राहकों को ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ा रहा है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dilip Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप