भागलपुर। काली महारानी पूजा समिति के महासचिव रहे चिरंजीवी यादव उर्फ धूरी यादव की हत्या में आरोपित अजय मिश्रा ने हाईकोर्ट में जमानत की अर्जी दी है। उच्च न्यायालय ने उसकी जमानत अर्जी पर सुनवाई पूर्व केस डायरी मांग ली है। केस डायरी के अवलोकन के बाद ही उच्च न्यायालय जमानत अर्जी पर सुनवाई करेगी।

अजय पर आरोप है कि पूर्व की दुश्मनी में उसने धूरी से अपने बड़े भाई गुडुल मिश्रा की हत्या के इंतकाम का एलान कर रखा था। अजय की गिरफ्तारी झारखंड से पुलिस की विशेष टीम ने की थी। गिरफ्तारी बाद उसने अपने उपर लगाए गए आरोपों से इनकार किया। फिलहाल अजय जेल में बंद है।

उर्दू बाजार में बदमाशों ने कर दी थी हत्या

तातारपुर थाना क्षेत्र के उर्दू बाजार मोहल्ले में चार नवंबर 2019 की शाम घात लगाए बदमाशों ने गोली मार धूरी यादव की हत्या कर दी थी। हत्यारों ने उन्हें काफी नजदीक से निशाना बना आसानी से वहां से भाग निकले थे। तब किसी को यकीन नहीं हुआ कि प्रभावशाली धूरी यादव को घर से कुछ दूरी पर ही मार दिया जाएगा। घटना बाद इलाके में अफरातफरी मच गई। देखते ही देखते तब उर्दू बाजार पुलिस छावनी में तब्दील हो गया था। गोली लगने के बाद परिजन उन्हें तत्काल ऑटो से मायागंज अस्पताल ले गए लेकिन चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस