संवाद सूत्र, बांका: युवाओं को ऊंची शिक्षा प्राप्त करने और नौकरी तलाश करने के लिए सात निश्चयन योजना आर्थिक हल युवाओं को बल तहत स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना, स्वयं सहायता भत्ता और कुशल युवा कार्यक्रम की शुरूआत की गई है। इस योजना का ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाभ मिले इसके लिए सभी प्रखंड़ों में 31 दिसंबर तक कार्यशाला आयोजित कर युवाओं को जागरूक किया जाएगा। ताकि इससे अधिक से अधिक लोगों को लाभ मिल सके।

डीआरसीसी के प्रबंधक रजनीश राज ने बताया कि सात निश्चय योजना का लाभ समाज के सभी लोगों तक पहुंचे इसके लिए 31 दिसंबर तक प्रखंड स्तर पर स्कूल या कालेज में कार्यशाला का आयोजन कर योजनाओं की जानकारी दी जा रही है। इसके तहत सोमवार को अमरपुर प्रखंड के सलेमपुर हाई स्कूल में कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें काफी संख्या में युवाओं ने भाग लिया। इसमें सभी योजनाअें की विस्तृत रूप से जानकारी दी गई। इस दौरान डीआरसीसी के सहकर्मी पंकज कुमार और राकेश मिश्रा, स्कूल के प्रधानाध्यापक कंतेश कुमार पांडेय, वरीय शिक्षक संजय कुमार और द्वारिका प्रसाद दस के साथ ही अन्य शिक्षक उपस्थित थे।

क्या है स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना

स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के तहत 12 वीं पास छात्र-छात्राओं को बीए, बीएससी, इंजीनियङ्क्षरग, मेडिकल, प्रबंधन व विधि की पढ़ाई के लिए कर्ज ले सकेंगे। कर्ज की अधिकतम सीमा कुछ भी हो सकती है। लेकिन इसमें सरकार द्वारा चार लाख तक के मूलधन और ब्याज पर बैंकों को गारंटी देगी। इसके लिए छात्रों को आनलाइन आवेदन केवल करना होगा। इसके बाद डीआरसीसी द्वारा वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाएगा।

स्वयं सहायता भत्ता योजना

पढ़ाई के बाद युवाओं को रोजगार ढूंढने में पैसे के लिए परेशानी न हो इसके लिए सरकार द्वारा दो वर्षों तक एक हजार रूपया प्रतिमाह दिया जाता है। इसका लाभ 12 वीं पास 20 से 25 वर्ष के युवाओं को दिया जाता है। इसके साथ ही कुशल युवा कार्यक्रम के तहत सभी प्रखंड़ों में कौशल प्रशिक्षण केंद्र खोला गया है। जहां पर कंप्यूटर ट्रेङ्क्षनग, व्यवहार कौशल सहित अन्य प्रशिक्षण दिया जाता है।

Edited By: Shivam Bajpai