जागरण संवाददाता, भागलपुर। स्‍वतंत्रता का अमृत महोत्‍सव : आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान रविवार को सड़कों पर लघु भारत का स्वरूप दिखा। हर मजहब के लोग हाथों में तिरंगा लेकर सड़कों पर निकले। भारत माता की जय, वंदे मातरम से शहर गूंज उठा। अमृत महोत्सव तिरंगा यात्रा आयोजन समिति की ओर से भव्य तिरंगा यात्रा जिला स्कूल से निकाला गया, जो खरमनचक, खलीफाबाग, वेरायटी चौक, सुजागंज बाजार, स्टेशन चौक, लोहिया पुल, पटल बाबू रोड होते हुए घंटाघर भगत सिंह चौक होते हुए वापस जिला स्कूल के प्रांगण में पहुंच कर राष्ट्रगान के साथ संपन्न हो गया।

शोभायात्रा के दौरान लोगों ने यहां की सभ्यता एवं संस्कृति को दर्शाते हुए तिरंगा यात्रा के दौरान झांकियों निकाली। इसमें सामाजिक एवं राजनीतिक संगठनों के लोग शामिल थे। स्वतंत्रता के 75वें वर्ष पर लोगों ने 75 मिनट का समय राष्ट्र के नाम समर्पित किया।

शोभायात्रा का शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर लोगों के द्वारा फूलों की वर्षा, पानी की बोतल, शर्बत एवं बिस्कुट के साथ स्वागत किया गया। तिरंगा यात्रा में यहां की सभ्यता-संस्कृति को दर्शाते हुए पहले भारत माता, रानी लक्ष्मी बाई रथ पर विराजमान थी। बाला बिहुला की झांकी, महान स्वतंत्रता सेनानी तिलकामांझी, काली पूजा, विषहरी पूजा, छठ पूजा, दुर्गा पूजा, मोहर्रम, ईद मिलन, सर्वधर्म समभाव, गुरुद्वारा बाबासाहेब आंबेडकर, अग्रसेन महाराज, कश्यप मुनि, भक्त नरहरी, राम मंदिर, प्रथम महिला चिकित्सक कदंबिनी गांगुली, शरदचंद, जनसंख्या नियंत्रण, मंजूषा कला, भामाशाह, भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, दानवीर कर्ण, मां मनसा देवी, गांधीजी, सड़क दुर्घटना हेलमेट सहित अनेकों झांकियां आकर्षण का केंद्र रही।

जागृत युवा सम‍ित‍ि, जीवन जागृति सोसायटी, दिव्य च्योति जागृति संस्थान, कलासागर संस्कृति संगठन, आर्ट आफ लिविंग, कैंप बिहार, नमामि गंगे, नेहरू युवा केंद्र, जिला स्वर्णकार संघ, बिहार बंगाली समिति, सक्षम फाउंडेशन, नागरिक विकास समिति, दक्षिणी क्षेत्र विकास समिति, काली पूजा महासमिति, शांति समिति, विषहरी पूजा महासमिति, दमरिया पीर शाह, टैली अकेडमी, अम्मा जी, गायत्री परिवार, जेएस एजुकेशन, जनसंख्या समाधान फाउंडेशन, वैश्य विकास फाउंडेशन, मंजूषा कला केंद्र, हिटाची आइआइटी, दुर्गा पूजा महासमिति, कसोधन वैश्य समाज सहित शहर के अनेकों गण्यमान लोग शामिल हुए। आयोजन समिति के संरक्षक शिक्षाविद राजीव कांत मिश्रा एवं संयोजक संतोष कुमार थे।

संरक्षक राजीव कांत मिश्र ने कहा कि यह कार्यक्रम भागलपुर की सभ्यता, संस्कृति, सामाजिक सद्भाव एवं अनेकता में एकता का प्रतीक था। कार्यक्रम में सभी धर्म-समुदाय के गणमान्य लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराकर राष्ट्रीय एकता का संदेश दिया है। संयोजक संतोष कुमार कहा कि भगलपुरवासियों ने सिद्ध कर दिया कि हम सभी एक तिरंगा के नीचे खड़े हैं और एक भारत श्रेष्ठ भारत को अपनी पहचान मानते हैं।

तिरंगा यात्रा में शाह फकरे आलम हसन, परवेज जमाल, डा हेम शंकर शर्मा, डा वीणा यादव, रोहित पांडेय, कमल जयसवाल, भोला मंडल, अभय घोष सोनू, जियाउर रहमान, रमण कर्ण, लक्ष्मी नारायण डोकानिया, पवन मिश्रा, मनीष दास, इंदु भूषण झा, राजेश टंडन, श्यामल किशोर मिश्रा, गौतम दास, संजय जैन, मुजफ्फर अहमद जयप्रकाश यादव, रमाशंकर अबरार अंसारी मोहम्मद जावेद, इबरार तपस घोष तरुण घोष, अशोक सरकार प्रदीप रजक, सोनी कुमारी, श्वेता भारती, डॉ जयंत जलद, विजय झा गांधी, मनीष कुमार दास, मुकेश हरि, विनय सिन्हा, देवाशीष बनर्जी, भावेश यादव, अशोक राय, शशि शंकर राय, श्यामल मिश्रा, सुद्दू साईं, नारायण झा, दयानंद जय, विजय कुमार, पप्पू, अमित, टिंकल, अमन सिन्हा, प्यारे हिंद, राज किशोर गुप्ता, अनिल गुप्ता, विकास भारती, मनोज पंडित मंजूषा गुरु, प्रदीप जैन, दीपक घोष, दिलीप निराला, देवव्रत घोष, प्रणब दास, अंकित भगत, रामदेव साह, जिया गोस्वामी, नरेश मिश्रा, राजेश टंडन, निरंजन साह, सुधीर भगत, सुधांशु भूषण तिवारी, पृथ्वीराज, राजीव तिवारी आदि मौजूद थे।

इस दौरान, भारत माता और रानी लक्ष्मी बाई रथ पर विराजमान थीं। बाला बिहुला की झांकी, स्वतंत्रता सेनानी तिलकामांझी, काली पूजा विषहरी पूजा, छठ पूजा, दुर्गा पूजा, मुहर्रम, ईद मिलन, सर्वधर्म समभाव, गुरुद्वारा कमिटी, बाबासाहेब आंबेडकर, अग्रसेन जी महाराज, कश्यप मुनि, भक्त नरहरी, राम मंदिर, प्रथम महिला, चिकित्सक, कदंबिनी गांगुली शरदचंद द्वार, जनसंख्या नियंत्रण, मंजूषा कला, भामाशाह, भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, दानवीर कर्ण, मां मनसा देवी, गांधीजी, सड़क दुर्घटना हेलमेट सहित अनेकों झांकियां आकर्षण का केंद्र रही।

संयोजक संतोष कुमार कहा कि भगलपुरवासियों ने सिद्ध कर दिया कि हम सभी एक तिरंगा के नीचे खड़े है। और एक भारत श्रेष्ठ भारत को अपनी पहचान मानते है। सड़कों पर लघु भारत का स्वरूप दिख रहा था।

इस दौरान जागृत युवा समिति के दर्जनों कार्यकर्ता वहां मौजूद थे। समि‍त‍ि के जिला संयोजक प्‍यारे हिंद के तिरंगा यात्रा के वापस आने के बाद अखंड भारत दिवस मनाया। उन्‍होंने अपने संबोधन में कहा कि आज का दिन हमलोगों को संकल्‍प लेने का दिन है कि इस खंडित भारत को अखंड कैसे बनाएं। इस दिशा में लगातार प्रयास रहा है। 14 अगस्‍त को ही भारत से पाकिस्‍तान अलग हुआ था। इस दिन भारत के लिए टीस के समान है। इस अवसर पर मां भारती की आरती की गई। कार्यक्रम में अमित, रोशन, मंगल, आशुतोष तोमर, रोहित, सोनू आदि मौजूद थे।

अनेकता में एकता देश की सबसे बड़ी

सर्वधर्म एकता के पैगाम को लेकर रविवार को आजादी के 75 साल पर अमृत महोत्सव के अवसर पर ऐतिहासिक तिरंगा यात्रा निकाली गई। जो दशकों तक याद रखी जाएगी। खानकाह-ए-पीर दमडिय़ा शाह के 15वें सज्जादानशींन सैयद शाह फखरे आलम हसन ने तिरंगा यात्रा के सफल आयोजन के लिए तिरंगा यात्रा आयोजन समिति के सदस्यों को मुबारक पेश की है। तिरंगा यात्रा में अहम भूमिका निभाने के खास तौर पर राजीव कांत मिश्रा, संतोष कुमार और डा. हेम शंकर शर्मा को धन्यवाद दिया है। उन्होंने आजादी के 75 साल पूरे होने पर अमृत महोत्सव के मौके पर आयोजित तिरंगा में शामिल सभी लोगों का शुक्रिया अदा किया है। उन्होंने अपने बधाई संदेश में कहा कि अनेकता में एकता भारत वर्ष की सबसे बड़ी ताकत है। सभी लोगों को आपस में मिलजुल कर रहने की जरूरत है।

सज्जादानशीं इस तिरंगा यात्रा में स्वयं मौजूद रहे। इस ऐतिहासिक तिरंगा यात्रा के मौके पर खानकाह-ए-पीर दमडिय़ा शाह के सज्जादानशीं और सैयद शाह एनायत हुसैन वक्फ 159 के मोतवल्ली सैयद शाह फखरे आलम हसन द्वारा शाहमार्केट गेट के समीप पानी का स्टाल लगा गया था।

समाचार विक्रेता मजदूर संघ ने निकाली तिरंगा यात्रा

भागलपुर समाचार पत्र विक्रेता मजदूर संघ ने रविवार की सुबह पांच बजे रेलवे स्टेशन परिसर से तिरंगा यात्रा निकाली। इस दौरान संगठन के सभी सदस्य साइकिल पर अखबार के साथ आगे तिरंगा बांधकर भारतमाता की जय एवं वंदे मातरम के नारे लगाते हुए स्टेशन से कोतवाली चौक, खलीफाबाग चौक, वेरायटी चौक होते हुए पुन: स्टेशन परिसर पहुंचे, जहां सभा समाप्त हुई। अध्यक्ष हरविंद नारायण भारती ने साथियों को बताया कि हम सभी को भेदभाव भूल कर संगठित होकर रहना है। ताकि देश के लिए हम मजबूत रह सकें। यात्रा में दिलीप यादव, राजेश झा, उमेश मंडल, पंकज, राहुल आदि साथ थे।

Edited By: Dilip Kumar Shukla