जागरण संवाददाता, पूर्णिया। Amit Shah Bihar Visit : इंदिरा गांधी स्टेडियम में आयोजित अमित शाह की जनभावना सभा में कई केंद्रीय मंत्री, सांसद, विधायकों के साथ राज्य के पूर्व मंत्रियों ने भी संबोधित किया। अमित शाह करीब एक बजे जब मंच पर पहुंचे उस समय केंद्रीय में गिरिराज सिंह ही माइक पर थे। उन्होंने बोलना शुरू ही किया कि तब तक अमित शाह मंच पर पहुंच गये। इसलिए उन्हें बोलने का अधिक वक्त नहीं मिला। लेकिन अपने संक्षिप्त संबोधन में उन्होंने सीमांचल के पिछड़ापन और दुर्दशा के लिए नीतीश और लालू को जिम्मेदार ठहराया। कहा कि सीमांचल की सबसे बड़ी समस्या बांग्लादेशी घुसपैठिये हैं। पर उन घुसपैठियों को यहां से निकालना लालू-नीतीश के वश की बात नहीं है। केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार के आने पर इस पर रोक लगाने का काम शुरू हुआ है। लेकिन राज्य सरकार इसमें बाधा बनी हुई है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि केंद्र के साथ साथ बिहार में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएं तभी सीमांचल को इस कोढ़ से मुक्ति मिल पायेगी।

केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह की जन भावना रैली में ग्रामीण इलाके से लोगों का भीड़ उमड़ पड़ी। पूर्णिया पूर्व पश्चिमी मंडल इकाई से प्रखंड भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष सह हरदा मुखिया प्रतिनिधि मनीष कुमार भारती के नेतृत्व में हरदा बाजार, हरदा बस्ती, ठाढ़ा, कबैया, बिक्रमपट्टी, लालगंज से हजारों की संख्या में महिला पुरुषों का जत्था रवाना हुआ। जबकि केनगर प्रखंड के दक्षिणी कामाख्या मंडल अध्यक्ष सुनील भगत, रमेश प्रसाद गुप्ता, सच्चिदानंद साह, गोपाल साह, अजित झा, संतोष कुमार साह, राजेश कुमार शुक्ला, सुरेश ठाकुर के नेतृत्व में आटो, ट्रैक्टर व चारपहिया वाहन व हजारों की संख्या में बाइक से लोगों ने जनभावना रैली में पहुंचे।

किशनगंज में गुस्‍साए अमित शाह

किशनगंज: माता गुजरी यूनिवर्सिटी के मुख्य द्वार पर तैनात प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा रोके जाने को लेकर भड़के गिरिराज सिंह। प्रवेश नहीं दिए जाने पर गाड़ी वापस के सर्किट हाउस चले गए। गृह मंत्री के आने के बाद बुलावे पर वापस पहुंचे माता गुजरी यूनिवर्सिटी।

Edited By: Dilip Kumar Shukla