ललन तिवारी, भागलपुर। अद्भुत प्रेम कहानी : भागलुपर जिले के सबौर के खानकित्ता गांव में प्रेम विवाह करने वाली प्रेमिका थाना से दुल्हन बनकर ससुराल के लिए विदा हुई। सास पूनम सिंह, ससुर मिहिर कुमार, चचिया ससुर संजय कुमार सिंह और जेठ नई दुल्हन को विदाकर ले गए। खानकित्ता गांव के निवासी मिहिर कुमार का पुत्र स्मित राज का कटिहार निवासी पंकज कुमार राय की पुत्री ईशा राय से प्रेम प्रसंग था। लड़की का ननिहाल खानकित्ता में है। वहां उसका आना-जाना होता था। प्रेमी स्मित राज एक अगस्त को अपने एक मित्र के सहयोग से अपनी प्रेमिका को कटिहार से लेकर फरार हो गया। प्रेमिका के स्वजनों ने कटिहार थाने में शादी की नीयत से अपहरण करने का मामला दर्ज कराया।

उधर दोनों युगल दो-चार दिन इधर उधर रहकर बाबा भोलेनाथ के दरबार गोनूधाम मंदिर, जगदीशपुर भागलपुर में प्रेम विवाह कर लिया। सबौर पुलिस ने लड़के पर दबाव बनाया और लड़की को बरामद किया। सोमवार को बरामद लड़की की सूचना कटिहार थाना को दी। लड़की ने बालिग होने के प्रमाण दिए और विवाह करने की फोटो दिखाई। सबौर थाना में मजिस्ट्रेट सीओ अजीत झा, थानेदार पवन कुमार सिंह और खान‍कित्‍ता पंचायत के मुखिया सुनील कुमार चौधरी मौजूदगी में दोनों के स्वजन उपस्थित हुए।

लड़की का बयान दर्ज किया गया। लड़की ने ससुराल जाने को कहा। पुलिस वालों ने लड़की की विदाई की। दोनों अलग-अलग जाति के हैं। इससे लड़की पक्ष के लोग नाराज थे लेकिन लड़के वाले पढ़ी-लिखी बहू पाकर खुश थे और लड़के के साथ उसे अपने घर ले गए। दोनों आपस में अलग-अलग जाति के हैं। लड़की ने आवेदन में थाने में यह भी लिख कर दिया है कि उसे अपने ही मायके के परिवार से जान का भय है। वहीं खानिकित्‍ता गांव में इस अंतर्जातीय प्रेम विवाह की खूब चर्चा हो रही है। प्रमुख अभय कुमार ने कहा कि सरकार ने अब अंतरजातीय विवाह को पूरी तरह से मान्‍यता दे दी है, इस प्रकार की विवाह को बढ़ावा भी दिया जा रहा है, ताकि जा‍त-पात समाप्‍त हो सके। 

Edited By: Dilip Kumar Shukla