जागरण संवाददाता, भागलपुर। नगर निगम के सभागार में सोमवार को भागलपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की परामर्शदातृ समिति की बैठक नगर आयुक्त सह भागलपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक सह मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी प्रफुल्ल चंद्र यादव की अध्यक्षता में हुई। इस अवसर पर पूर्व की योजनाओं पर समिति सदस्यों ने सुझाव के साथ सवाल भी खड़े किए। सदस्यों ने कहा जब भागलपुर से हवाई सेवा की कोई गुंजाइस नहीं है तो हवाई अड्डे पर 13.64 करोड़ रुपये से रोशनी, चारदीवारी आदि पर खर्च करने का क्या फायदा होगा। यहां से उड़ान की जब संभावना नहीं है। शहरवासी को हवाई अड्डे के बारे में बताना होगा। इस पर स्मार्ट सिटी के अधिकारी ने बताया कि सरकार स्तर से निर्णय लिया जाना है। तैयारी पहले से कर रहें हैं। वहीं सदस्यों ने कहा कि शहर में ई-टायलेट बनाए जा रहे हैं, लेकिन पूर्व में बायो टायलेट ध्वस्त हो गए। इस पर अधिकारी ने कहा अब जो कंपनी कार्य करेगी उसको पांच साल तक रखरखाव करना है।

बैठक में सदस्यों के समक्ष तीन नयी परियोजनाओं सीएमएस स्कूल के आधुनिकीकरण, सैंडिस कंपाउंड के विकास परियोजना में अतिरिक्त अवयवों का समायोजन और ऑफ स्ट्रीट भूतल पार्किंग को लेकर चर्चा हुई बैठक में भागलपुर स्मार्ट सिटी परियोजनाओं का पॉवर पॉइंट प्रेजेंटेशन दिया गया जिसके माध्यम से चल रही परियोजनाओं समेत आगामी योजनाओं के बारे में परामर्शदातृ समिति के सदस्यों को जानकारी दी गई।

उन तीन परियोजनाओं में ऑफ स्ट्रीट भूतल पार्किंग के अंतर्गत 680 वर्ग मीटर में दुपहिया और चार पहिया के पार्किंग की परियोजना को शामिल किया गया है । पार्किंग के क्षेत्र में महिला और पुरुष के लिए अलग अलग टायलेट बनाया जाएगा। परियोजना के लिए पार्किंग स्थल के रूप में कचहरी चौक का चयन किया गया।

वहीं सैंडिस कंपाउंड में जनसुविधा को बढ़ावा देने के लिए डीएम सुब्रत कुमार सेन ने 10 जून को निरीक्षण के दौरान प्रस्ताव दिया था। इस प्रस्ताव को समिति ने पारित कर दिया है। इसके आधार पर कार्य भी कराया जाएगा। सैंडिस कंपाउंड के विकास परियोजना में अतिरिक्त अंतरराष्ट्रीय स्तर के चार टेनिस कोर्ट का निर्माण कराया जाएगा। इसके साथ चहारदीवारी व फेंङ्क्षसग आदि पर कार्य होगा। साथ ही सिथेटिक वालीबॉल का दो कोर्ट का निर्माण होगा। इसके साथ जयप्रकाश उद्यान में दो तालाब को वाटर पार्क के रूप में विकसित किया जाना है। यहां तालाब के चारों ओर वाकवे, रोशनी, बैठने की व्यवस्था व वोटिंग आदि की सुविधा होगी। तालाब का सौन्दर्यीकरण शामिल किया गया है। दोनों परियोजनाओं पर परामर्शदातृ समिति की सहमति मिली।वहीं सीएमस स्कूल के आधुनिकीकरण परियोजना पर परामर्शदातृ समिति के सदस्यों ने समानुपातिक दर पर स्कूल के विकास का सुझाव दिया। समिति की बैठक में इंटीग्रेटेड सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, स्मार्ट रोड और इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को लेकर भी चर्चा हुई। बैठक में श्री यादव ने बताया की ज्यादातर परियोजनाओं में अब ऑपरेशन एंड मेंटेनेंस का प्रावधान किया जा रहा है। इसके अंतर्गत संवेदक को न केवल परियोजना पूरी करनी होगी बल्कि रखरखाव और उसे चलाने की जिम्मेदारी भी संवेदक की होगी।

इस बैठक में महापौर सीमा साह, विधायक भागलपुर के प्रतिनिधि पंकज सिंह, सांसद के प्रतिनिधि संदीप कुमार, भागलपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड मुख्य महाप्रबंधक संदीप कुमार, मुख्य वित्त अधिकारी सुशील कुमार, भागलपुर इंजीनियङ्क्षरग कॉलेज से प्रोफेसर शशांक शेखर, नागरिक विकास समिति से जियाउर रहमान और सत्यनारायण प्रसाद, चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स के महासचिव रोहित झुनझुनवाला, सुशील कटारुका, जीविका से संतोष कुमार,सुनील कुमार दारुका समेत भागलपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के वरीय प्रबंधक तकनीकी टी आर प्रशांत, मुकुल कुमार सिंह समेत तकनीकी टीम शामिल हुई।

Edited By: Dilip Kumar Shukla