भागलपुर [जेएनएन]। भागलपुर की एसिड पीडि़त बिटिया आखिरकार जिंदगी से जंग हार गई। सोमवार को 11.30 बजे दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल में उसने आखिरी सांस ली।


19 अप्रैल को अलीगंज में घर में घुसकर तीन-चार युवकों ने उस पर तेजाब से हमला किया था। पिछले 38 दिनों से वह जीवन के लिए संघर्ष कर रही थी। भागलपुर के मायागंज अस्पताल से रेफर किए जाने के बाद उसे वाराणसी स्थित समयन अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां चिकित्सकों ने उसकी कई बार सर्जरी भी की। उसकी हालत में सुधार हो रहा था लेकिन सबकुछ ठीक नहीं रहा। 23 मई से ही उसकी हालत बिगडऩी शुरू हो गई थी। शरीर में तेजी से फैल रहे संक्रमण और सांस की समस्या के कारण उसे दिल्ली ले जाया गया था। सुबह इलाज शुरू होने के बाद से ही उसकी हालत और गंभीर होती चली गई। वाराणसी में उसे वेंटीलेटर पर रखा गया था। रविवार शाम को उसे एयर एंबुलेंस से दिल्ली ले जाकर वहां स्थित सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

छात्रा को किडनी में सूजन और शरीर के अन्य भागों में तेजी से संक्रमण फैल गया था। इस कारण उसे कई तरह की परेशानी हो रही थी। उसे शुक्रवार से सांस लेने में तकलीफ होने पर वाराणसी में वेंटीलेटर पर रखा गया था। वेंटीलेटर पर ही छात्रा को दिल्ली पहुंचाया गया। बिटिया इंटर फाइनल ईयर की छात्रा थी।

भागलपुर में होगा दाह संस्कार
बिटिया का दाह संस्कार परिजन भागलपुर श्मशान घाट में ही करेंगे। उसके शव को पोस्टमार्टम और जरूरी प्रक्रिया के बाद परिजन को सौंप दिया गया। छात्रा के पिता, चाचा और मां समेत परिवार के अन्य लोग शव लेकर भागलपुर के लिए निकल गए हैं। मंगलवार की शाम तक शव भागलपुर पहुंचने की बात कही जा रही है।

श्रद्धांजलि देने पहुंचे कई नेता
बिटिया की मौत की खबर मिलते ही भागलपुर से जुड़े कई नेता दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में श्रद्धांजलि देने और पीडि़त परिवार को ढांढस बंधाने पहुंचे। इनमें भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे, भाजपा नेता अर्जित शाश्वत चौबे, पूर्व डिप्टी मेयर डॉ. प्रीती शेखर, डॉ. मृणाल शेखर ने दिल्ली में पीडि़त परिवार को सांत्वना दी। हर संभव मदद का भरोसा दिलाया।

प्रिंस पर लगाया है तेजाब से हमला करने का आरोप
अलीगंज में 19 अप्रैल की रात छात्रा पर तेजाब से हमला हुआ था। छात्रा और उसकी मां के मुताबिक दोनों ने तेजाब फेंकने वालों को नहीं पहचाना। लेकिन देर रात पिता ने पड़ोस के युवक प्रिंस भगत पर तेजाब से हमला करने का आरोप लगाते हुए बबरगंज में उसी रात केस दर्ज कराया। बबरगंज पुलिस ने इस मामले में प्रिंस को तत्काल गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद अलीगंज से राजा यादव नामक युवक को भी गिरफ्तार किया गया था। दोनों इस समय जेल में हैं।

पुलिस जल्द दाखिल करेगी आरोप-पत्र
डीआइजी विकास वैभव ने कहा कि इस मामले में फोरेंसिक की फाइनल रिपोर्ट आते ही आरोपितों के विरुद्ध शीघ्र आरोप-पत्र दायर किया जाएगा। केस में जो भी विरोधाभाषी बातें आई हैं, वो डीएनए की फाइनल रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट हो जाएंगी। छात्रा ने अपने बयान में और जिन दो लड़कों का नाम लिया है, उनकी संलिप्तता का भी पुलिस पता कर रही है। डीआइजी ने कहा कि इस केस में हत्या समेत अन्य धाराएं जोड़ी जाएंगी। न्यायालय में पुलिस इसके लिए लिखित अनुरोध पत्र देगी। आज यानी मंगलवार को फोरेंसिक की प्राथमिक रिपोर्ट आ सकती है।

निधन की सूचना मिलते ही भागलपुर शोकाकुल हो उठा है। छात्रा का ज्यादातर परिजन दिल्ली में ही हैं। कुछ सगे संबंधी सोमवार दोपहर दिल्ली के रवाना हुए। 19 अप्रैल को घटना के बाद तत्काल उसे भागलपुर के जेएलएनएमसीएच भागलपुर में भर्ती कराया गया। लेकिन यहां समुचित इलाज की व्यवस्‍था नहीं रहने के कारण प्राथमिक उपचार कर उसे समयन अस्पताल वाराणसी भेज दिया गया। जहां एक माह तक छात्रा का इलाज हुआ। डॉक्टरों की टीम ने बहुत प्रयास किया। बीच बीच में छात्रा की हालत में सुधार भी होता था। कई सर्जरी किए गए। लेकिन संक्रमण के कारण स्थिति अंत में और खराब होती गई। रविवार देर रात उसे दिल्ली इलाज के लिए ले जाया गया। जहां छात्रा का निधन हो गया। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dilip Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप