भागलपुर [जेएनएन]। पहली बार पूर्व बिहार के यात्रियों को इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन लिमिटेड (आइआसीटीसी) पांच जनवरी से आस्था सर्किट भारत दर्शन स्पेशल से दक्षिण भारत के तीर्थ स्थलों का भ्रमण कराएगा। यात्री तिरुपति, मदुरै, रामेश्वरम, कन्याकुमारी, पद्मानाभस्वामी मंदिर का दर्शन कर सकेंगे।

नौ रात और 10 दिन के इस सफर के लिए एक यात्री को 9450 रुपये भुगतान करना होगा। ग्रुप में रहने पर यात्रियों को रियायत मिलेगी। इसके लिए ग्रुप में कम से कम 20 यात्रियों का होना जरूरी है। यात्रियों के लिए चाय, नाश्ता, दोपहर और रात का भोजन सहित ठहरने और बस की व्यवस्था भी रहेगी। 15 कोच वाली ट्रेन में 12 स्लीपर क्लास कोच होंगे। दो ब्रेकवान और एक गार्ड बोगी होगी। टिकट शुल्क में ही यात्रियों के चार लाख रुपये का दुर्घटना बीमा भी किया जाएगा।

उत्तर भारत की सफलता के बाद चलाया जा रहा दक्षिण भारत स्पेशल

आइआरसीटीसी की ओर से सभी जोन और रेल मंडलों में तीर्थ स्थलों के दर्शन के लिए आस्था सर्किट स्पेशल चलाया जा रहा है। इस बार आइआरसीटीसी ने पूर्व बिहार के लोगों को भी जोडऩे की कोशिश की गई है। वरीय पर्यवेक्षक मनीष कुमार और दीपांकर मन्ना ने बताया कि उत्तर भारत स्पेशल की सफलता के बाद दक्षिण भारत दर्शन चलाने का निर्णय लिया गया है।

पांच जनवरी की सुबह जाएगी ट्रेन

आस्था सर्किट भारत दर्शन पांच जनवरी की सुबह सात बजे मुंगेर स्टेशन से खुलेगी। 9.25 बजे यह भागलपुर पहुंचेगी। 10 मिनट के बाद यहां से ट्रेन खुलेगी। ट्रेन का परिचालन हंसडीहा-दुमका-रामपुरहाट-अंडाल-आसनसोल-बंकुरा-खडग़पुर-कटक के रास्ते होगा।

तिरुपति बाला जी का दर्शन पहले, अंतिम पड़ाव मीनाक्षी मंदिर

आस्था सर्किट स्पेशल पहले सात जनवरी को रेणुंगटा स्टेशन पहुंचेगी। यहां रात्रि विश्राम के बाद अगली सुबह यात्री तिरुपति बालाजी का दर्शन करेंगे। इसी दिन रात्रि विश्राम त्रिवेंद्रम में यात्री करेंगे और पद्मानाभस्वामी मंदिर में पूजा करेंगे। नौ जनवरी को कन्याकुमारी का दर्शन करेंगे। 11 जनवरी को रामेश्वरम जाएंगे। 12 को मदुरै में माता मीनाक्षी का दर्शन करने के बाद रात्रि विश्राम करेंगे। 13 को ट्रेन वापसी होगी। 14 की शाम आस्था सर्किट 5.30 बजे भागलपुर आएगी ।

आज से फूड प्लाजा में होगी बुकिंग

इसकी बुकिंग आइआरसीटीसी वेबसाइट पर क्रेडिट कार्ड से होगी। इसके अलावा आज से जंक्शन स्थित फूड प्लाजा से भी बुकिंग करा सकते हैं। पैकेज कोड (इजेडबीडी 44) बुकिंग चेक से होगा, यात्रियों को पहचान पत्र रखना अनिवार्य है। किसी भी सहायता के लिए हेल्प लाइन नंबर 9002040108 पर भी संपर्क कर सकते हैं।

समुद्र पर बने रामेश्वरम पुल पर होगा सफर

समुद्र पर बने रामेश्वरम रेल पुल पर भी तीर्थ यात्री सफर करेंगे। यह ट्रेन इस पुल से गुजरेगी। यात्रा के दौरान किसी की तबियत खराब होने पर चिकित्सक ऑन कॉल पहुंचेंगे।

मुख्य बातें

-पहली बार पूर्व बिहार के लोग कर सकेंगे इस ट्रेन का सफर

-पांच जनवरी की सुबह मुंगेर स्टेशन से खुलेगी

-तिरुपति, मदुरै, रामेश्वरम, कन्याकुमारी, पद्मानाभस्वामी मंदिर में करेंगे पूजा-अर्चना

-भागलपुर-दुमका-रामपुरहाट-अंडाल-कटक के रास्ते चलेगी ट्रेन

-यात्रियों को मिलेगा चाय, नाश्ता, दोपहर और रात का भोजन

-09 रात और 10 दिन का होगा सफर

-01 यात्रियों को देना होगा 9450 रुपये

-04 लाख तक का मिलेगा दुर्घटना बीमा

Posted By: Dilip Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप