संवाद सहयोगी, जमुई: जमुई के चंद्रमंडी थाना क्षेत्र से सामूहिक दुष्कर्म की वारदात का मामला सामने आया है। पीड़ित महिला का कहना है कि पिस्टल के बल पर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। सोमवार को महिला ने थाने में आवेदन देते हुए बताया कि वो रविवार की शाम के आटो से उतर अपने घर पैदल जा रही थी। इसी दौरान रास्ते में सफेद रंग की मारुति रुकी और कुछ लोगों ने उसे पिस्टल दिखाकर कार में बैठा लिया।

महिला ने बताया कि वे लोग तेज रफ्तार में गाड़ी चलाने लगे और सभी ने बारी-बारी से उसकी आबरू लूट ली। पीड़िता ने कहा कि इस वारदात के दौरान गाड़ी के शीशे चारों तरफ से बंद कर दिए गए। इसके साथ ही वे लोग उसे गोरीडीह जंगल ले गए। वहां भी उसके साथ गलत काम किया गया।

उसने लाख मिन्नतें करते हुए छोड़ने की बात कही। लेकिन आरोपियों ने इस बात को किसी से न कहने और जान से मारने की धमकी देते हुए पीड़िता को जंगल में ही छोड़ दिया और फरार हो निकले। प्राप्त आवेदन के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर पीड़िता को मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल भेजा।

'महिला द्वारा तीन युवकों पर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज करवाई गई है। इसके बाद उसे मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल भेजा गया है। मामला गंभीर है। जांच की जा रही है। जो भी आरोपी हैं, उन्हें जल्द से जल्द पकड़ा जाएगा।'- मधुमालती आजाद, महिला थानाध्यक्ष

इस मामले के बाद से इलाके में सनसनी का माहौल है। महिला के साथ घटित हुई वारदात को लेकर एक दफा फिर सड़क सुरक्षा पर सवाल उठने लगे हैं। स्थानीय लोगों की मानें तो अक्सर अराजक तत्व जंगल की ओर तस्दीक करते दिखाई देते हैं। यही नहीं वे बहन बेटियों पर भद्दे कमेंट भी करते हैं। सामूहिक दुष्कर्म की खबर पूरे इलाके में आग की तरह फैल गई है। 

Edited By: Shivam Bajpai