भागलपुर [जेएनएन]। जिला स्कूल में भागलपुर नगर निगम के 100 और नाथनगर प्रखंड के 50 शिक्षकों का पांच दिवसीय विशेष प्रशिक्षण मंगलवार से प्रारंभ हुई। और इसके साथ ही शुरू हो गया NISHTHA (निष्ठा) नेशनल इनीशिएटिव फॉर स्कूल हेड्स एंड टीचर्स हॉलिस्टिक एडवांसमेंट स्कूल प्रमुखों और शिक्षकों की समग्र उन्नति के लिए राष्ट्रीय पहल) की। बिहार देश का ऐसा 12वां राज्य है जिसमें निष्ठा कार्यक्रम की शुरुआत हो चुकी है। प्रशिक्षण का उद्घाटन डाइट (Diet) के प्राचार्य राकेश कुमार ने किया।

निष्ठा प्रशिक्षण से जिले के शिक्षकों का शैक्षणिक कार्य में समग्र उन्नति होगा। उन्हें बदलते समय व बच्चों के सोच में हो रहे बदलाव को ध्यान में रखते हुए उन्हें पांच दिनों के प्रशिक्षण में नए गुर सीखाए जाएंगे। ताकि शिक्षक बच्चों की रुचि के अनुसार खेल खले में पढ़ाई को आनंदायी बनाकर पढ़ा सकें। 

इस अवसर पर राकेश कुमार ने कहा कि केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने प्राथमिक स्तर पर ही शिक्षा को सशक्त बनाने के लिए निष्ठा कार्यक्रम की शुरुआत की है। इसके तहत छात्रों में महत्वपूर्ण सोच को प्रोत्साहित करने के लिए शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

शिक्षकों को मास्टर ट्रेनर मनोज कुमार बंधु, सुभाष चंद्र पासवान, खुशबू कुमारी, प्रीतम कुमार और विनय कुमार यादव ने प्रशिक्षण दिया।

मास्टर ट्रेनर खुशबू कुमारी ने कहा कि शिक्षण कार्य के दौरान शिक्षक बच्चों को पढ़ाने से पहले खुद पढ़ें। शिक्षक को अध्ययन करते रहना चाहिए। शिक्षक जिस पाठ्यक्रम को पढ़ाने वाले हैं, उसकी समुचित तैयारी और पूर्वाभ्यास कर छात्र—छात्राओं को पढ़ाने जाएं। शिक्षक बच्चों को रूचिकर तरीके से पढ़ाएं। बच्चों को उसी के अंदाज में पढ़ाएं, जिस अंदाज में बच्चे पढ़ना चाहते हैं। इससे बच्चों को पढ़ाई बोझिल नहीं लगेगा। खुशबू कुमारी ने शिक्षकों को पढ़ाने के तरीके को प्रोजेक्टर पर भी दिखाकर भी समझाया। उन्होंने तनाव रहित, रोचक और आनंददायी तरीके से कैसे पढ़ाई की जाती है, इस विषय में शिक्षकों को कई महत्‍वपूर्ण टिप्‍स दिए।

मनोज कुमार बंधु ने कहा कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय भारत सरकार ने समग्र शिक्षा अंतर्गत प्रारंभिक शिक्षा कक्षा एक से आठ के लगभग 42 लाख शिक्षकों के प्रशिक्षण की एक अभूतपूर्व राष्ट्रीय पहल की है। निष्ठा के माध्यम से स्कूल प्रमुख और शिक्षक अपने नेतृत्व क्षमता निखार सकेंगे और वे बच्चों में व्यक्तिगत और सामाजिक गुणों के विकास को सुनिश्चित करेंगे।

सुभाष चंद्र पासवान ने कहा कि निष्ठा एक पोर्टल और मोबाइल एप भी उपलब्ध कराएगा, जिसमें गुणवत्तापूर्ण सामग्री और प्रशिक्षण से जुड़ी सभी जानकारी उपलब्ध रहेंगे। इसे शिक्षक आपस में साझा कर खुद की योग्यता निखारेंगे।

प्रीतम कुमार ने कहा कि इस प्रशिक्षण से शिक्षक छात्रों में रचनात्मक चिंतन विकसित करने के लिए प्रेरित और सक्षम होंगे। उनमें परामर्शदाता बनने की प्रतिभा विकसित होगा।

विनय कुमार यादव ने कहा कि निष्ठा के माध्यम से समग्र शिक्षा के विभिन्न पहलुओं की समझ की जानकारी मिलेगी। योग और स्वास्थ्य, यूथ और इको क्लब, खेलकूद सामग्री, स्कूल अनुदान और पुस्तकालय आदि उपलब्ध होंगे।

इसी तरह का निष्ठा द्वारा शिक्षकों का ​प्रशिक्षण सबौर प्रखंड में भी हुआ। जिसका उद्घघाटन डीपीओ मो. असगर आलम ने किया।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस