जागरण संवाददाता, अररिया। जिले में धान खरीद की रफ्तार में काफी तेजी आ गई है। पिछले वर्ष में हुई धान की खरीद को पार कर गया है इस वर्ष जिला। पिछले वर्ष का लक्ष्य 90 हजार एमटी था। निर्धारित तिथि तक 64 हजार 293.7 एमटी धान की खरीद की गई थी। जबकि इस वर्ष लक्ष्य 89 हजार एमटी लक्ष्य निर्धारित किया गया है। 21 जनवरी 2022 तक 75367.30 एमटी धान की खरीद हो चुकी है। अबतक 84.68 फीसद जिले का लक्ष्य पहुंच गया है।

खरीद की अंतिम समय सीमा 15 फरवरी है। शत फीसद लक्ष्य हासिल करने में अभी पर्याप्त समय है। सहकारिता विभाग के अनुसार निर्धारित तिथि तक लक्ष्य पूरा हो जाएगा। धान खरीद एक नवंबर से शुरू है। 215 पैक्सों को 33 मिलरों से टैग किया गया है।

वर्तमान में 212 पैक्सों व व्यापार मंडल द्वारा धान की खरीद की जा रही है। जिसमें 203 पैक्स व नौ व्यापार मंडल है। सभी पैक्सों को 33 राइस मिलों से टैग किया गया है। पैक्सों को राइस मिल से टैग हो जाने पर धान की रफ्तार में काफी तेजी आ गई है। जहां धान रखने के लिए गोदाम भर गया है वहां प्राइवेट गोदाम लेकर धान को रखने की सुविधा सहकारिता विभाग द्वारा दी गई थी। जिले में इस बार लक्ष्य 89 हजार एमटी है। 21 जनवरी तक 8835 किसानों से 75 हजार 367.30 एमटी धान की खरीद हो चुकी है।

पैक्सों का मिल से टैग होते ही अब धान खरीद की रफ्तार में तेजी आ गई है। शत प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करने के लिए विभाग द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है। जो पिछले वर्ष धान की खरीद हुई थी। इस वर्ष पार कर गया है। एक नवंबर से धान खरीदारी शुरू हुई थी। 15 फरवरी तक ही किसानों से धान लिए जाएंगे। बारिश व बाढ़ होने से फसल को काफी क्षति नुकसान हुआ था जिसे इस बार लक्ष्य को घटाकर 89 हजार एमटी कर दिया गया। जबकि पिछले वर्ष धान खरीद का लक्ष्य 90 हजार एमटी था।

जिला सहकारिता पदाधिकारी मिथिलेश कुमार ने बताया कि धान की खरीदारी एक नवंबर से शुरू है। 215 पैक्सों व व्यापार मंडलों को 33 राइस मिलरों से टैग किया गया है। अब धान की रफ्तार में काफी तेजी आ गई है। जिले का लक्ष्य 89 हजार एमटी था जो 21 जनवरी तक 75 हजार 367.30 एमटी धान की खरीद हो चुकी है। किसानों को धान खरीद का भुगतान भी हो रहा है। पैक्सों का मिलरों से टैग होने के बाद अब धान खरीद में कहीं रुकावट नहीं आएगी। शत फीसद लक्ष्य हासिल हो जाएगा।

अभी 15 फरवरी तक पर्याप्त समय है। किसानों को धान बेचने में किसी प्रकार की परेशानी नहीं है। अगर जहां गोदाम में धान रखने के लिए जगह नहीं है वहां पर प्राइवेट गोदाम लेकर धान रखने की सुविधा सहकारिता विभाग द्वारा दी गई है। 215 पैक्सों को 33 मिलरों से टैग कर दिया गया है। 203 पैक्स व नौ व्यापार मंडलों द्वारा धान की खरीद अभी चल रही है। जहां पैक्सों में खरीद नहीं हो रही उन पैक्सों को अगल बगल के पैक्सों से टैग कर दिया गया। लक्ष्य पूरा करने के लिए पूरी कोशिश की जा रही है। बताया कि अगर समय सीमा से पहले लक्ष्य शत फीसद धान की खरीद हो जाती है तो लक्ष्य बढ़ाने के लिए कहा जाएगा।

प्रखंड लक्ष्य खरीद प्रतिशत

अररिया---- 11562.87---- 9696.48--- - 83.86

भरगामा---- 8059.91- 7,212.80एमटी- 89.49 प्रतिशत

फारबिसगंज-- 13314.82-- 3996.12 एमटी 105.1 प्रतिशत

जोकीहाट 10862.09-- 6538.30 एमटी 60.19 प्रतिशत

कुर्साकाटा 5606.24 2818 एमटी 50.28 प्रतिशत

नरपतगंज 12263.65 15522.60 एमटी 126.5 प्रतिशत

पलासी 8759.75 6132.00 एमटी 70 प्रतिशत

रानीगंज 12614.04 10202.80 80.88 प्रतिशत

सिकटी 5956.63 3247.50 54.52 प्रतिशत

-

कुल 89 हजार एमटी 75367.30 एमटी कुल 84.68 फीसद खरीद

 

Edited By: Abhishek Kumar