जागरण संवाददाता, भागलपुर। स्मार्ट सिटी में आप जिस ओर जाइए, सड़क पर गड्ढे ही गड्ढे मिलेंगे। ये गड्ढे सड़क काटकर पानी का पाइप बिछाने के कारण हुए हैं। मुख्य सड़क हो या फिर इसके संपर्क की सड़के, हर ओर कीचड़ और धूल से लोग परेशान हैं। बारिश होते ही शहर कीचड़मय हो गया है।

जिलाधिकारी सुब्रत सेन ने पाइप बिछाने के काम पर तत्काल रोक लगाते हुए सड़क निर्माण का काम शुरू कराने का निर्देश दिया, लेकिन संबंधित एजेंसी ने डीएम के आदेश की हवा निकाल दी है। मोटरेबल करने के नाम पर आंखों में धूल झोंकी जा रही है। जिस जगह पर मोटरेबल किया जा रहा है, इसके अगले ही दिन उस जगह पर गड्ढा कर पाइप को ठीक-ठाक किया जा रहा है। मोटरेबल वाली जगह गाडिय़ों का चक्का धंस जा रहा है। कई जगहों पर तो जानलेवा गड्ढे उभर आए हैं।

तीन जगहों पर बरारी में गड्ढे बने हैं जानलेवा

बरारी रोड की ही बात करें तीन स्थानों पर बीच सड़क को ही काटकर पाइप बिछाया गया है, लेकिन उसे भरा नहीं गया है। जिसके कारण गाडिय़ों में बैठे लोग चोटिल हो रहे हैं। डीएम आवास से तिलकामांझी चौक तक काटी गई सड़क पर कालीकरण तो किया गया है, कालीकरण के नाम पर शहरवासियों के साथ छलावा किया गया है। सड़क पर न तो रोलर चला है और न ही समतल किया गया है।

नहीं चलाया जा रहा रोलर

आधी सड़क को काटकर बुडको के ठेकेदार ने पाइप बिछाने का काम किया है। नल-जल योजना अंतर्गत शहरी क्षेत्र में पाइप लाइन बिछाने के लिए सड़कों को काट दिया गया है और उसपर मिट्टी डालकर छोड़ दिया गया है। सड़क के कटे रहने के कारण अनावश्यक रूप से यातायात की समस्या के साथ-साथ वाहनों के जाम की स्थिति उत्पन्न हो रही है। जिलाधिकारी कई बार निर्देश दे चुके हैं कि पाइपलाइन बिछाने के लिए जितने पथों को काटा जाएगा, उसे पूर्व की स्थिति बहाल होने के उपरांत ही आगे सड़क काटी जाए, लेकिन उक्त आदेश का अनुपालन नहीं करते हुए शहर की सड़कों को काटकर कार्य होने के उपरांत गड्ढे को मिट्टी से भर दिया जा रहा है।

बुडकों ने काटी गई सभी सड़कों की नहीं कराई मरम्मत

एडीबी, बुडको के कार्यपालक अभियंता द्वारा बताया गया कि विभिन्न वार्डों के अंदर 43 किलोमीटर आंतरिक सड़कों को काटा गया है एवं 14 किलोमीटर ही सड़क का निर्माण कराया गया है। पथ प्रमंडल के पथांस को छोड़ कर शेष सभी काटी गई सड़कों का निर्माण बुडकों द्वारा ही कराया जाना है, जो कि अभी तक नहीं किया गया है। पथ निर्माण विभाग द्वारा तिलकामांझी से बरारी के बीच सड़क को मोटरेबल बनाने का काम किया जा रहा है। पाइप बिछाने वाले स्थल से मिट्टी हटाकर गिट्टी डाली जा रही है, लेकिन उसपर रोलर हीं चलाया जा रहा है।

समतल सड़क पर फंस जाएगी गाड़ी

खोदे गए गड्ढे डीएम के निर्देश के बाद भरे जाने लगे हैैं, लेकिन सड़क को इस तरह से समतल किया जा रहा है कि कहीं भी गाड़ी का पहिया फंस जा रहा है। यदि संभल कर नहीं चले तो दुर्घटना हो सकती है। जलापूर्ति पाइप लाइन बिछाने के लिए शहर की मुख्य सड़क पर खोदाई हुई है। सड़के खुद जाने के बाद जाम की समस्या बन गई। जाम से निजात के लिए गड्ढों को भरने का जिलाधिकारी ने निर्देश दिया। उसके बाद पीडब्ल्यूडी विभाग ने सड़क पर बने गड्ढों को भरना शुरू कर दिया। सड़कों का समतलीकरण इस कदर किया गया कि उस पर जैसे ही वाहन चल रहे हैैं उनके पहिए फंस जा रहे हैं। सड़क से हर रोज स्कूल के वाहन गुजरते हैैं। निजी स्कूल की कई बसें इसी सड़क से जाती है। कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। यह तो एक उदाहरण मात्र है। लगभग पूरे शहर में इसी तरह गड्ढों को भरा जा रहा है।

डीएम का कड़ा निर्देश, काटी गई सड़क को अविलंब बनाएं

सड़क काटकर पाइप बिछाने और इसके बाद मरम्मत नहीं किए जाने के मामले को डीएम सुब्रत कुमार सेन ने गंभीरता से लिया है। इस मामले में उन्होंने बुडको, नगर निगम और पथ निर्माण विभाग के अभियंता को मरम्मत कार्य जल्द से जल्द पूरा करने का आदेश दिया। उन्होंने इस मामले में जांच टीम का भी गठन किया है। सदर अनुमंडल पदाधिकारी व जिला विकास शाखा के वरीय उप समाहर्ता को काटी गई सड़क की मरम्मत की जांच एवं मरम्मत में अनावश्यक हुए विलम्ब की जांच करते हुए प्रतिवेदित करने का निर्देश दिया है।

पीडब्ल्यूडी की 13.98 किमी काटी गई सड़क

बुडको द्वारा अबतक पथ प्रमंडल के क्षेत्राधिकार से संबंधित अबतक कुल 13.98 किलोमीटर सड़क को नल-जल योजना के लिए काटा गया है, जिसकी मरम्मत की राशि बुडको द्वारा पथ प्रमंडल को उपलब्ध कराई जा चुकी है। उक्त सड़कों की मरम्मत का कार्य एक माह में पूर्ण करने का निर्देश डीएम ने पथ प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता को दिया है। साथ ही डीएम द्वारा एडीबी, बुडको के कार्यपालक अभियंता को यह भी निर्देश दिया है कि भविष्य में कार्य प्रारंभ करने के 48 घंटे पूर्व सदर अनुमंडल पदाधिकारी, पथ प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता व यातायात पुलिस उपाधीक्षक को सड़क के काटे जाने के संबंध में सूचना पूर्व निॢमत वाट्सएप ग्रुप पर भी उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

डीएम द्वारा निर्देशित किया गया है कि विसर्जन पथ में काटे गए सभी पथों को प्राथमिकता के आधार पर पूर्व स्थिति बहाल करें। यह एडीबी के कार्यपालक अभियंता की व्यक्तिगत जिम्मेवारी होगी। डीएम द्वारा निर्देशित किया गया कि अब तक वार्डों के अंदर काटे गए कुल 43 किमी सड़क की मरम्मत एवं पथ प्रमंडल के काटे गए कुल 14 किमी सड़क की मरम्मत के उपरांत ही नये रूट पर सड़क काटना प्रारंभ करेंगे। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बरतने से होने वाली ट्रैफिक की समस्या अथवा पर्व त्यौहार के दौरान विधि व्यवस्था की समस्या होने पर संबंधित दोषी पदाधिकारी के विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

रोज लग रहा जाम

बारिश होने और स्कूल खुलने के कारण सड़क पर भीषण जाम लग रहा है। सिंगल सड़क रह जाने के कारण दो छोटी गाडिय़ां आमने-सामने से नहीं गुजर पा रही है। सड़क किनारे कीचड़ रहने की वजह से चालक गाड़ी नहीं उतार रहा है और जाम लग जा रहा है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla