जागरण संवाददाता, भागलपुर। नाथनगर के वार्ड 12 के रतन बाबा स्थान परिसर में मंगलवार को भी जलजमाव की समस्या का सामना करना पडा। रोजमर्रा के कार्यो के लिए कमर भर पानी से होकर गुजरे। दोपहर बाद नगर आयुक्त प्रफुल्ल चंद्र यादव ने स्वास्थ्य शाखा के कर्मचारी के साथ जलजमाव स्थल का निरीक्षण किया। यहां जलजमाव से पीडि़त लोगों ने पुरजोर तरीके से पीड़ा सुनाई। लोगों ने कहा, निकास की व्यवस्था नहीं होने से घर-द्वार छोडऩे को विवश हैं। जैन मंदिर मार्ग का पानी मोहल्ले में बहाया जा रहा है। जबकि निगम को मोहल्ले के पानी निकासी के लिए नाला निर्माण की जरूरत हैं। इस स्थायी पहल पर निगम कार्य नहीं कर रहा है उल्टे रमन बाबा स्थान मोहल्ले को नारकीय जीवन जीना पड़ रहा है।

- जलजमाव का नगर आयुक्त ने लिया जायजा, लोगों को समाधान का दिया भरोसा

- कच्चा नाला खोदकर मोहल्ले से बाहर होगा निकास, जैन मंदिर मार्ग में नाला निर्माण कार्य में लाएं तेजी

नगर आयुक्त के निरीक्षण बाद निदान पर हुई पहल

इस दौरान नगर आयुक्त प्रफुल्ल चंद्र यादव ने मोहल्ले में जलजमाव के निदान का निर्देश दिया। इसके लिए मोहल्ले में 10 मजदूरों से कच्ची नाला खोदा जा रहा है। जिससे नाले का पानी मोहल्ले के दूसरे छोर से आगे निकल जाए। वहीं दोपहर बाद एक पंपसेट लगाया गया। पंपसेट से गोलदारपट्टी मार्ग के नाले में पानी गिराया जाएगा। दो से तीन दिनों तक पानी निकासी के बाद निगम वैकल्पिक व्यवस्था पर कार्ययोजना तैयार की जाएगी। पार्षद प्रतिनिधि सीमू खान ने कहा कि नगर आयुक्त ने आश्वासन दिया है कि पानी सुखने के बाद नाला निर्माण कराया जाएगा। जिससे जलनिकासी की समस्या का काफी हद तक निदान होगा। मोहल्ले में चूना व ब्लीङ्क्षचग का छिड़काव हुआ। साथ ही नाथनगर मुख्य मार्ग में नाला निर्माण के कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। ताकि जैन मंदिर मार्ग में जलनिकासी की व्यवस्था और रतन बाबा स्थान को जलजमाव की समस्या से निजात मिल सके।

रेलवे भंवरा को कर लिया अतिक्रमण, रास्ता व जलनिकासी पर असर

नाथनगर रेलवे स्टेशन के पूर्वी केबिन के समीप अंडरपास हुआ करता था। जो जैन मंदिर मार्ग से नूरपुर पंचायत को सीधा जोड़ता था। इसके लिए 15 फीट चौड़ा सड़क भी था। लेकिन इससे अतिक्रमण कर लिया गया है। नतीजा तीन दशक से अंडरपास पूरी तरह से बंद हो चुका है। इस अंडरपास से गांव से शहर की ओर बेलगाड़ी और छोटे वाहनों की आवाजाही होती थी। जबकि शहरी क्षेत्र के नाले का पानी भी इसी होकर गुजरता था। स्थानीय राम प्रसाद यादव ने कहा कि नाले का निकास प्रभावित कर दीवार खड़ी कर फैक्ट्री खोल दी गई। इससे जलनिकासी की समस्या बनी हुई है। यहां अतिक्रमण हटाने के लिए कई बार अधिकारी से गुहार लगाए पर निदान नहीं हुआ। अब नए सीरे से डीएम को आवेदन दिया जा रहा है।  

Edited By: Abhishek Kumar