जागरण संवाददाता, भागलपुर। कोरोना के बढ़ते मामले ने सभी की बेचैनी बढ़ा दी है। हर किसी को शरीर में इम्युनिटी बढ़ाने की चिंता है। ऐसे में लोगों का झुकाव ड्राई फ्रूट की तरफ ज्यादा दिख रहा है। यही वजह है कि शहरवासी पिछले 20 दिनों 80 लाख के करीब काजू-पिस्ता बादाम-अखरोट-किसमिस गटक गए। औसतन हर दिन चार लाख की बिक्री हो रही है। लॉकडाउन में बाजार में अखरोट, पिस्ता बादाम, मखाना, काजू, खजूर और किसमिस की डिमांड काफी बढ़ी है। अब लोगों का इन चीजों पर ज्यादा फोकस है। ऐसे 10 मार्च के बाद से ही ड्राई फ्रूटस का कारोबार बढ़िया था। इधर, यह कारोबार और बूम कर गया। थोक मंडी की वजह से भागलपुर से पहले बांका, गोड्डा, साहिबगंज, मुंगेर, खगडिय़ा, सहित अन्य जिलों में ड्राई फ्रूटस का कारोबार होता था। इधर, दो दिनों से वाहन कम चलने से अभी इन जिलों से कारोबार कम हो रहा है। इसके अलावा लोग फलों का भी सेवन कर रहे हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए लोग सजग हैं।

सुबह में हल्का ड्राई फ्रूट का सेवन बेहतर

हर्ट व श्वांस रोग विशेषज्ञ डॉ. आलोक कुमार सिंह का मानना है कि इम्युनिटी बढ़ाने के लिए काढ़ा, निंबू के साथ-साथ ड्राई फ्रूटस का सेवन करना जरूरी है। लोग को हरी सब्जियां खाएं। सब्जियों को गर्म पानी से धोएं। सुबह में फल के साथ लोग ड्राई फ्रूट का सेवन करें। हर दिन सभी मिलाकर 50 ग्राम कमसे कम से कम खाना चाहिए।

-अभी ड्राई फ्रूटस स्टॉक में है। माल की आपूर्ति हो रही है। पिछले लॉकडाउन में भी कारोबार ठीक हुआ था। इस बार भी कारोबार पटरी पर है। वाहन नहीं चलने से दूसरे जिलो के व्यापारी बाहर से ग्राहक कम आ रहे हैं, इस कारण शहर में कारोबार हो रहा है। -रोशन कुमार, ड्राई फ्रूटस विक्रेता।

रेट ड्राई फ्रूट का प्रति किलो

काजू-800 से 900 रुपये

अखरोट-1000 से 1100 रुपये

बादाम-600 से 700 रुपये

किसमिस-250 से 400 रुपये

खजूर-170 से 300 रुपये

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप