मधेपुरा, जेएनएन। शहर को स्वच्छ रखने के लिए नगर परिषद ने शहर के आठ किलोमीटर दूर डंपिंग जोन बनाने की कवायद शुरू कर दी है। दो एकड़ भूमि पर डंपिग जोन तैयार किया जाएगा। जहां शहर के कचरे को डंप किया जाएगा। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की स्वीकृति का केवल इंतजार है। स्वीकृति मिलने के बाद टेंडर निकालकर कार्य शुरू कर दिया जाएगा। मालूम हो कि शहर में काफी मात्रा में कचरा होता है। जो नदी या फिर खाली पड़े जमीन पर यत्र-तत्र फेंक दिया जाता है। ऐसे में लोगों को काफी परेशानी होती है। यहीं नहीं बीमार फैलने की भी आशंका रहती है।

खपैती में चिन्हित किया गया है जमीन

डंपिंग जोन के लिए शहर से दूर खपैती में जमीन चिन्हित किया गया है। यहां दो एकड़ में कचरा को डंप किया जाएगा। जल्द ही बोर्ड की स्वीकृति मिलने की उम्मीद है। डंपिंग जोन के निर्माण होने से काफी फायदा होगा। यहां डंप किए गए कचरा से प्लास्टिक व लोहा आदि के सामानों को कबाड़ी में बेचा जाएगा। वहीं कचरा संग्रह के बाद एकत्रित कचरे को फेंकने के लिए एक निश्चित जगह होगी। इससे पर्यावरण भी प्रदूषित होने का खतरा कम हो जाएगा। नगर परिषद के अधिकारियों का कहना है कि एनओसी मिलने के साथ ही टेंडर निकाला जाएगा

सड़क व नदी किनारे कचरा फेंकने से होती है परेशानी

नगर परिषद वर्तमान में नदी या सड़क किनारे कहीं भी खाली जमीन पर कचरा फेंक देती है। इससे नदी का जल प्रदूषित हो ही रही है। सड़क किनारे कचरा रहने से लोगों की परेशानी बढ़ जाती है। यहीं नहीं आम लोग व नगर परिषद के कर्मचारी कचरा को जलाते भी हैं। ऐसे में कचरे से निकलने वाला धुआं वायुमंडल को प्रदूषित करता है। इससे कई प्रकार की बीमारी होती है। जबकि सड़क पर कचरा जलाने पर जुर्माना भी लगाने का प्रावधान है।

खपैती में डंपिंग जोन बनाने के लिए जगह चिन्हित किया गया है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के एनओसी मिलने के बाद टेंडर निकाला जाएगा। उम्मीद है जल्द ही डंपिंग जोन का काम शुरू होगा।

प्रवीण कुमार, कार्यपालक पदाधिकारी नगर परिषद, मधेपुरा

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021