भागलपुर, जेएनएन। मायागंज अस्पताल के एक डॉक्टर और स्पेशल ब्रांच के दारोगा समेत कोरोना के 57 नए मरीज सोमवार को जिले में मिले। इनमें भागलपुर के विभिन्न मुहल्लों में 24 कोरोना से संक्रमित हुए। 15 लोगों को स्वस्थ होने पर कोविड सेंटर से  छुट्टी दी गई। जिले में कोरोना से 13 लोगों की मौत हो गई है। कुल मरीजों की संख्या 1101 और भागलपुर शहर में 276 हो गई है।

सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार सिंह ने बताया कि मायागंज अस्पताल के एक विभाग के अध्यक्ष भी कोरोना से संक्रमित हुए हैं। इसके अलावा कचहरी चौक के समीप मॉल का प्रबंधक, सुरखीकल की तीन महिला और एक युवक, कोतवाली चौक निवासी व्यापारी का पुत्र और जब्बारचक में 15 माह का बच्चा पॉजिटिव पाए गए हैं। खंजरपुर, लोदीपुर, चमेलिचक आदि मुहल्लों में भी कोरोना के मरीज मिले हैं।

110 लोगों के सैंपल लिए गए

सदर अस्पताल में जिला प्रशासन के अधिकारियों और कर्मचारियों सहित 110 लोगों के सैंपल कोरोना जांच के लिए लिए गए। इनमें  लैब टेक्निशन भी शामिल हैं।

15 लोगों को मिली छुट्टी

टीटीसी कोविड सेंटर से 15 लोगों के स्वस्थ होने पर छुट्टी दी गई। कोरोना पोजोतिव होने पर उन्हें भर्ती किया गया था। जिन लोगो को छुट्टी दी गई है उनमें भागलपुर और अन्य प्रखंडों के लोग शामिल हैं।

समाहरणालय का कामकाज पड़ा ठंडा, दहशत में कर्मचारी

परिसर में कोरोना वायरस के फैलने के साथ की कामकाज पर व्यापक असर पड़ा है। भय से कई कर्मचारी कार्यालय नहीं पहुंच रहे हैं। जबकि कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए 50 फीसद कर्मचारियों को ही बुलाया जा रहा है। जो कर्मचारी आज काम पर पहुंचे हैं वह कल नहीं आएंगे। यानी अल्टरनेट व्यवस्था के तहत कामकाज हो रहा है। भय का ऐसा माहौल है कि कई कार्यालय का दरवाजा बंद कर कर्मचारी अंदर काम करते दिख रहे हैं। आम लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। डीएम प्रणव कुमार के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद प्रभारी डीएम एडीएम राजेश झा राजा को बनाया गया था, लेकिन उनके कोरोना पॉजिटिव होने के बाद एडीएम अरुण कुमार ङ्क्षसह को प्रभार दिया गया है। डीडीसी सुनील कुमार भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। तीन अधिकारियों और कई कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद समाहरणालय परिसर में भय का माहौल है। कर्मचारी दूसरे कार्यालय जाने से भी डर रहे हैं। कुछ अधिकारी तो आ रहे हैं, लेकिन सहयोगी नहीं पहुंच रहे हैं। किसी के पास सिर दर्द का बहाना है तो किसी के पास जांच कराने का। ऐसे में अधिकारियों के ऑफिस पहुंचने के बाद भी कामकाज नहीं हो पा रहा है। समाहरणालय परिसर  स्थित कार्यालय को छोड़कर शेष सरकारी कार्यालय 15 तक के लिए बंद है। अगर लॉकडाउन नहीं बढ़ा तो सरकारी कार्यालय खुलेंगे और कामकाज शुरू होगा।

अभी बंद रहेगा यूको बैंक का मुख्य शाखा

यूको बैंक के सीनियर प्रबंधक की मौत के बाद मुख्य ब्रांच सोमवार को भी बंद रहा। बैक को पूरी तरह सैनिटाइज किया गया। बैंक अधिकारी ने बताया कि जब तक पूरे भवन को सैनिटाइज नहीं किया जाता शाखा बंद रहेगी। इस शाखा के ग्राहकों को दूसरे शाखा में तत्काल व्यवस्था की जाएगी।

 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस