भागलपुर, जेएनएन। करीब एक वर्ष से पुलिस के लिए सिरदर्द बने मिर्जापुर निवासी तूफानी यादव को मधुसूदनपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस पर गोलीबारी, लूटपाट सहित एक दर्जन से ज्यादा मुकदमें लंबित है। कई बार पुलिस ने इसे गिरफ्तार करने का प्रयास किया लेकिन यह हमेशा पुलिस के गिरफ्त से बाहर हो जाता था। चर्चा तो यह भी है इसकी गिरफ्तारी अब तक न होने के पीछे थाने के एक एएसआइ से मधुर संबंध होना बताया जा रहा है।

मधुसूदनपुर पुलिस को सूचना मिली कि तूफानी मिर्जापुर गांव में छिपा हुआ है। पुलिस ने घेराबंदी करके उसे गिरफ्तार करना चाहा तो वह चारदीवारी फांदकर भागने लगा। पुलिस ने उसे खदेड़कर पकड़ा। पुलिस को उसके पास एक कट्टा व दो गोली मिली। बीते 13 फरवरी को किशनपुर गांव में वर्चस्व को लेकर हुई गोलीबारी का भी मुख्य आरोपित था। इसके अलावा नूरपुर पंचायत के सरपंच के घर पर भी चढ़कर गोलीबारी की थी। वहीं एक तरफ जहां तूफानी की गिरफ्तारी से आम लोगों ने राहत की सांस ली। इधर, गिरफ्तारी की सूचना के बाद सिटी डीएसपी राजवंश सिंह थाने पहुंचे और उससे पूछताछ की। सिटी डीएसपी राजवंश सिंह ने बताया कि तूफानी यादव को पुलिस कई मामले में तलाश कर रही थी। इससे पूछताछ की जा रही है। इसके किससे संबंध थे इसकी भी जानकारी ली जा रही है। सघन पूछताछ के बाद से जेल भेज दिया गया। हालांकि इसके पहले भी उसकी गिरफ्तारी हुई थी। लेकिन जेल से निकलने के बाद वह फ‍िर अपराध की दुनिया में सक्रिय हो जाता था।

जीरोमाइल चौक पर शराब के साथ तस्कर गिरफ्तार

जीरोमाइल चौक पर 14 बोतल अंग्रेजी शराब के साथ पुलिस ने एक युवक को दिन में गिरफ्तार किया है। उसकी पहचान मोजाहिदपुर इलाके के मिरजानहाट, सिकंदरपुर निवासी अमन कुमार ठाकुर के रूप में हुई। वह कहलगांव से शराब लेकर आ रहा था। पुलिस ने उससे सख्‍ती से पूछताछ की। पूछताछ में पुलिस को कई और जानकारी मिली है। उसे जेल भेज दिया गया है। यहां बता दें कि बिहार में पूर्ण रूप से शराबबंदी है।

 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस