भागलपुर। कोरोना संक्रमित मामले में अभी भागलपुर का स्थान राज्य में दूसरा है। अभी तक यहां 486 लोग संक्रमित हुए हैं। इसमें 342 मरीज ठीक होकर घर भी गए हैं। जिले के शहरी क्षेत्र में बरहपुरा, मारवाड़ी पट्टी, शिवपुरी कॉलोनी, झअुआ कोठी, नवगछिया, रंगरा, पीरपैंती प्रखंड के कई मोहल्ला कंटेनमेंट जोन में है। जिला प्रशासन की ओर से कंटेनमेंट जोन के तीन किलोमीटर दायरे में घेराबंदी का निर्देश दिया गया है। संबंधित प्रखंड के अंचलाधिकारी और नगर निगम को सख्त निर्देश भी दिए गए है। लेकिन, कंटेनमेंट जोन के कुछ मोहल्लों को बांस-बल्ला से घेर दिया गया है। इन इलाकों में लोगों की आवाजाही पर पूरी तरह पाबंद रहता है। लेकिन, कहीं भी नियमों का सख्ती से पालन नहीं हो रहा।

-----------------

न सीसीटीवी न पुलिस बल

कंटेनमेंट इलाके में की निगरानी सीसीटीवी कैमरे से होनी चाहिए। लेकिन, यहां किसी भी इलाके में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगाए गए हैं। सिर्फ पुलिस बल को तैनात किया गया है। लेकिन, पुलिस बल भी न के बराबर ही दिखते हैं। जरूरी काम से ही लोगों को बाहर निकलने की अनुमति है। इसके बाद भी लोग आवाजाही कर रहे हैं।

-------------------

दो जगहों पर मरीजों का इलाज

कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए जिले में जेएलएनएमसीएच और टीचर्स ट्रेनिंग सेंटर कॉलेज को आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। जेएलएनएमसीएच में कोरोना के गंभीर मरीजों का इलाज होता है। अभी तक जिले में एक भी मरीज की मौत कोरोना से नहंी हुई। अप्रैल के प्रथम सप्ताह में मुंगेर जिले के एक मरीज की जान गई थी।

-------------

अनलॉक-एक से बढ़ने लगा मामला

भागलपुर में कोरोना मामला का इजाफा अनलॉक-एक से बढ़ने लगा है। जून से पहले भागलपुर में संक्रमितों की संख्या 240 के करीब थी। चिकित्सकों की मानें तो दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासियों के आने के बाद कोराना संक्रमित के केस ज्यादा आने लगे हैं। लोग बेखौफ होकर घरों से बाहर निकल रहे हैं। शारीरिक दूरी का पालन नहीं कर रहे हैं। औसतन केवल जून में आठ से दस मरीज हर दिन जिले में संक्रमित हुए हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस