भागलपुर। तिलकामांझी में हथियार व गोली के साथ पकड़े गए राहुल सिंह ने पुलिस को चौंकाने वाली जानकारियां दी है। उसके बयान के बाद पुलिस ने शहर में विक्की सिंह और पलटू यादव गिरोह के बीच भीषण गैंगवार की आशंका जाहिर की है। राहुल ने बताया है कि पलटू यादव के एक साथी साकेत पांडेय की कुछ दिनों पूर्व चाकू से गोदकर तिलकामांझी में हत्या कर दी गई। इसका आरोप विक्की सिंह पर लगा। वह इस मामले में जेल में बंद हैं। इस हत्या के बाद पलटू यादव भी अंडर ग्राउंड होकर उससे बदला लेने के प्रयास में लग गया। सन्नी खटाल दे रहा पलटू का साथ

पुलिस को राहुल ने बताया कि बदला लेने के लिए पलटू ने मु. सन्नी खटाल से हाथ मिला लिया। सन्नी के पास ही वे लोग बैठते थे। वहीं सन्नी और पलटू साकेत पांडेय की हत्या का बदला लेने की बात कर रहे थे। पलटू ने सन्नी से कहा कि अभी विक्की सिंह जेल में है। इस कारण उसके भाई सोनू सिंह उर्फ कटिमना को आसानी से खत्म किया जा सकता है। इसके लिए दोनों ने उससे कहा। यह सुनते ही राहुल ने हत्या के लिए हामी भर दी। उसने इसके लिए अपने साथ उर्दू बाजार के मोनू मिश्रा और अशोक मंडल से संपर्क किया। तब सन्नी ने उसे और अशोक को बाइक व पिस्तौल उपलब्ध करा दी। लेकिन वे लोग पुलिस के कारण काम को अंजाम नहीं दे सके। सोनू का साथ दे रहा बन्नी

राहुल ने बताया कि पलटू यादव ने जब सन्नी से हाथ मिलाया तो सोनू सिंह ने बन्नी खान से से हाथ मिला लिया। उन लोगों के साथ बन्नी और उसके लड़के हो गए। राहुल ने बताया कि उन लोगों ने सोनू को मारने के लिए कुछ दिनों पहले सैंडिस कंपाउंड के पास कार पर गोली चलाई थी। लेकिन वह बाल बाल बच गया था। लेकिन लगातार वे लोग उसकी रेकी कर रहे थे। लेकिन इस बार भी वह बच गया। पुलिस ने दोनों गिरोह की निगरानी शुरू कर दी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस