जमुई, जेएनएन। जमुई में मंगलवार की सुबह एक व्‍यक्ति की हत्‍या कर दी गई। मृतक कोदवरिया पंचायत की मुखिया पारो देवी का पति है। हालांकि मृतक राजेश यादव का भी आपराधिक इतिहास रहा है। घटना के बाद से गांव तथा आसपास में लोग दहशत में आ गए हैं। घटना की जांच के लिए पुलिस वहां पहुंच गई है। लाश का पोस्‍टमार्टम कराकर स्‍वजनों को सौंप दिया गया। पुलिस अभी कुछ बता नहीं पा रही है।

जानकारी के अनुसार, अलीगंज प्रखंड की कोदवरिया पंचायत की मुखिया पारो देवी के पति राजेश यादव उर्फ गुजर यादव की मंगलवार सुबह बम और गोली मारकर हत्या कर दी गई। उसके घर के सामने ही घटना को अंजाम दिया गया। घटना के समय वह पुराने घर से बजरंगबली मंदिर के पास स्थित नए घर की ओर जा रहा था।

स्वजनों ने बताया कि पैक्स गोदाम के समीप घात लगाए तीन नकाबपोश हमलावरों ने घटना को अंजाम दिया। हत्या करने के बाद सभी बदमाश अपाचे बाइक पर सवार होकर जंगल की ओर भाग निकले।

जाते-जाते भी दहशत फैलाने के लिए अपराधियों ने दो और बम फोडऩे के साथ ही गोलियां भी चलाई। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस को स्वजनों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। काफी मशक्कत के बाद एसडीओ लखींद्र पासवान एवं एसडीपीओ रामपुकार ङ्क्षसह शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए स्वजन को राजी करने में सफल हो पाए।

स्वजन का आरोप था कि राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों ने घटना को अंजाम दिया और इसकी आशंका पहले भी पुलिस के समक्ष व्यक्त की गई थी। बावजूद, सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं किए गए थे। पूर्व में उनके भाई प्रमोद यादव की भी हत्या कर दी गई थी। राजेश यादव का आपराधिक इतिहास रहा है। भलुआना गांव के ही नरेश यादव और उनके पिता बोधल यादव की हत्या का इल्जाम भी राजेश पर लगा था। पिछले वर्ष एक वार्ड पार्षद ने भी राजेश के आतंक से मुक्ति दिलाने की गुहार जिला प्रशासन से लगाई थी। तब गांव की गलियों में अवैध हथियारों का प्रदर्शन करते हुए राजेश का वीडियो वायरल हुआ था। गांव में ही आर्केस्ट्रा के दौरान तमंचे पर डिस्को कराने का भी एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें पुलिस ने मामला दर्ज कर राजेश के एक सहयोगी को गिरफ्तार किया था।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस