भागलपुर। शाहजंगी मेला मैदान के पास हर्ष फायरिग के दौरान इंजीनियर मु. गुलरेज की हत्या मामले में आरोपित मु. मेहवाल रविवार को पुलिस के हत्थे चढ़ गया। करीब ढाई साल पूर्व बारात में डास के दौरान घटना हुई थी। घटना के बाद वह फरार हो गया था। हबीबपुर थानेदार मु. दिलशाद और इशाकचक इंस्पेक्टर संजय कुमार सुधांशू ने गुमटी नंबर दो के समीप से मेहवाल को दबोचा है। यह जानकारी सिटी डीएसपी राजवंश सिंह ने दी। मेहवाल को जेल भेज दिया गया है। शादी में हिस्सा लेने पहुंचे थे मुंबई से

बता दें कि पीरपैंती इलाके के सुंदरपुर गांव निवासी मु. गुलरेज अपने स्वजनों के साथ मामा के बारात में शामिल होने के लिए हबीबपुर के भतुआबाड़ी पहुंचा था। वह मुंबई में मैकनिकल इंजीनियर था। 28 फरवरी को भतुआबाड़ी से बारात बदरेआलमपुर के लिए निकली। शाहजंगी मैदान के पास मु. मेहवाल हाथ में पिस्टल लेकर डांस कर रहा था। इसी दौरान गुलरेज से उसकी हल्की कहासुनी हो गई। इस बात पर ही मेहवाल ने गुलरेज के सिर में गोली मारकर हत्या कर दी। गोली चलते ही वहां अफरातफरी मच गई। दिल्ली भाग गया था

आननफानन में उसे जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज व अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसकी मौत हो चुकी थी। चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं, मु. मेहवाल दिल्ली भाग गया था। लॉकडाउन के कारण व भागलपुर लौटा था। भीखनपुर में वह किराए का कमरा लेकर रह रहा था। वह कपड़े का धंधा करता है। गुप्त सूचना मिलने पर पुलिस ने उसे दबोचा है। इस मामले में वह एक मात्र आरोपित है।

----------------------

कोट :

ढाई साल पुराने इंजीनियर हत्याकांड में मुख्य आरोपित की गिरफ्तारी हुई है। आरोपित पर जल्द चार्जशीट दाखिल करके स्पीडी ट्रायल चलाकर सजा दिलाई जाएगी।

- सुशांत कुमार सरोज, सिटी एसपी

-

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस