भागलपुर, जेएनएन। प्रख्यात शायर मुनव्वर राणा की बेटी फौजिया राणा ने कहा कि तीन तलाक को समाप्त करने और अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद अब सीएए को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। वे भागलपुर पहुंचीं और शाहकुंड व कबीरपुर में सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में धरना दे रहे लोगों को संबोधित किया। कबीरपुर में 28 दिनों से लगातार धरना-प्रदर्शन चल रहा है।

उन्होंने कहा कि जब तक इस कानून को समाप्त नहीं किया जाता लड़ाई जारी रहेगी। केंद्र सरकार ने पहले तीन तलाक और धारा 370 हटाया। अब यह कानून लाकर मुसलमानों पर अत्याचार कर रही है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। हमें अपना अधिकार लेना होगा और इसके प्रति सभी लोग को जागरूक होना होगा।

खानकाह-ए-पीर के नायब सच्जादानशीं सैयद शाह फखरे आलम हसन ने कहा सीएए, एनआरसी और एनपीआर काला कानून है। देश संविधान से चलता है, लिहाजा इस कानून को सरकार को वापस लेना चाहिए। यह कानून लोगों के बीच डर और भय का पैदा करता है। इस भय के माहौल को दूर करना चाहिए। सरकार को चाहिए कि लोगों से बात कर इस मसले का हल निकाले। इसके बाद हबीबपुर में बुद्धिजीवियों के साथ बैठक की।

फौजिया ने बैठक के बाद लखनऊ में उनके खिलाफ दर्ज किए गए मुकदमे के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यह समझने की जरूरत है सरकार किस तरह से आवाज को दबाने पर तुली है। बैठक में डॉ. रहमान, हेलाल, जफर मुस्तफा, मेराज बबलू, मुफ्ती खुर्शीद, रामशरण व ङ्क्षरकू यादव सहित अन्य लोग मौजूद थे।

 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस