सुपौल, जेएनएन। रविवार की सुबह-सुबह सुपौल में एक भीषण बस हादसा हुआ। इस दुर्घटना में दर्जनों यात्रियों के घायल होने की सूचना है। जख्मी को इलाज के लिए स्‍थानीय अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। हालांकि ज्‍यादातर यात्रियों को हल्की चोटें आई है।

जानकारी के अनुसार बलिया से विराटनगर नेपाल जा रही बस नेशनल हाइवे पर सुपौल के झाझा गांव समीप 30 फीट गड्ढे में जा गिरी। बस दुर्घटना में बस पर सवार अधिकांश यात्री जख्मी हो गये। 

सभी बस यात्री अपनी आंख का इलाज कराने विराटनगर जा रहे थे। घटना रविवार सुबह तीन बजे की गई। बस पर 50 से ज्‍यादा यात्री के सवार रहने की जानकारी मिली है। बस पलटने के बाद से चालक और खलासी वहां से फरार हो गया।  पुलिस ने बताया कि चालक के संतुलन खो जाने की वजह से यह बस दुर्घटनाग्रस्‍त हुई है। किशनपुर थाना पुलिस ने क्षतिग्रस्त बस को अपने कब्जे में ले लिया है। इस दुर्घटना के बाद बस का मालिक तथा चालक फरार हो गया। 

यूपी के थे सभी यात्री 

बस उत्तर प्रदेश के बलिया से नेपाल के विराटनगर जा रही थी। जख्मी का इलाज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सरायगढ़ भपटियाही में कराने के बाद उसे विभिन्न जगहों के लिए भेज दिया गया। सभी जख्मी उत्तर प्रदेश के बलिया, भोजपुर, बक्सर आदि जिले के रहने वाले हैं। सभी ने बस रिजर्व कर आंख का इलाज कराने विराटनगर अस्पताल जा रहे थे।

सरायगढ़ भपटियाही प्रखंड अंतर्गत किशनपुर थाना क्षेत्र के झाझा गांव समीप आने पर अचानक बस हाइवे से तीन बार पलटते हुए नीचे गिर गई। यात्री जैसे-तैसे शीशा तोड़कर बस के अंदर से बाहर निकले। कुहासा ज्यादा होने के कारण आसपास के लोग भी दुर्घटना स्थल तक नहीं पहुंच पा रहे थे।

दुर्घटना की जानकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सरायगढ़ भपटियाही को दी गई। वहां से एंबुलेंस चालकों ने तत्परता दिखाते हुए सभी घायलों को अस्पताल तक पहुंचाया। अस्पताल के डॉ उमेश कुमार ने बताया कि घायलों में गोपाल दुबे 40 वर्ष, पंच देवनारायण 25 वर्ष, आरती देवी 60 वर्ष, कमला देवी 70 वर्ष, मैथिली शरण पांडे 60 वर्ष, गीता देवी 65 वर्ष, नासिक कुमारी 50 वर्ष, कमला देवी 40 वर्ष, मोहम्मद समी उल्लाह 65 वर्ष, आजाद कुमार 65 वर्ष, नीलम देवी 55 वर्ष, गंगा विष्णु 70 वर्ष, केसरी देवी 65 वर्ष, रातों देवी 51 वर्ष, तिलारो देवी 65 वर्ष, संजीव कुमार 51 वर्ष, बीबी फातमा 65 वर्ष, हीरालाल पासवान 55 वर्ष, संजीत पासवान 50 वर्ष, दीपन राजथन 19 वर्ष, कलावती देवी 36 वर्ष, विमल राजभर 55 वर्ष, केबती देवी 50 वर्ष, शांति देवी 50 वर्ष, रुनी देवी 40 वर्ष, अमरूल 70 वर्ष, विद्यावती देवी 53 वर्ष, शकीला बेगम 60 वर्ष, विजेश कुमार 18 वर्ष, रामलाल प्रजापति 55 वर्ष आदि सहित शामिल हैं।

 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस