भागलपुर, जेएनएन। चार नवंबर 2019 को उर्दू बाजार में चिरंजीवी उर्फ धुरी यादव हत्याकांड मामले में पुलिस जेल में बंद आरोपितों के विरुद्ध सुबूत जुटा रही है। पुलिस राजद नेता रहे मु. परवेज खान उर्फ पप्पू खान का भी आपराधिक इतिहास खंगाल रही है। ताकि जानकारी मिले कि धुरी और अजय मिश्रा के बीच दुश्मनी कैसे शुरू हुई। 18 सितम्बर 2007 को पप्पू खान की पटना में अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। धुरी यादव पूर्व में उनके करीबी रहे थे।

दरअसल पुलिस धुरी यादव और अजय मिश्र के बीच दुश्मनी को सुबूत के तौर पर स्थापित करना चाहती है। धुरी यादव हत्याकांड में कुख्यात अजय मिश्रा की गिरफ्तारी झारखंड के जमशेदपुर से हुई थी। उसने पुलिस की गिरफ्त में कहा था कि 1998 में भाई गुडुल मिश्रा की पटना में हत्या करा दी। इस हत्याकांड में जिस गाड़ी पर गुडुल बैठा हुआ था, वह गाड़ी पप्पू खान चला रहा था। पीछे धुरी यादव और कमरूद्दीन बैठे हुए थे। चलती गाड़ी में बेरहमी से भाई को गोली मार दी थी। इसी का बदला लेने के लिए 21 साल बाद धुरी की हत्या करा दी।

मु. सोनम के पिता की भी भूमिका संदिग्ध

घटनास्थल के समीप ही मु. शमशुल इस्लाम के अंडा की दुकान थी। शमशुल का बेटा मु. जुल्फिकार उर्फ सोनम भी धुरी यादव हत्याकांड में आरोपित है। पुलिस को जांच के दौरान जानकारी मिली है कि मु. शमशुल इस्लाम का धुरी हत्याकांड के मुख्य आरोपित राजा राम सिंह से काफी पुराना संबंध है। राजा राम सिंह अभी जेल में है। इस जानकारी के बाद पुलिस भी शमशुल पर आशंका साजिश में संदिग्ध मान रही है। बता दें कि शमशुल घटना का प्रत्यक्षदर्शी है। उसके सामने ही धुरी को गोली मारी गई थी।

धुरी यादव हत्याकांड में आरोपित आमिर का आत्मसमर्पण

चिरंजीवी यादव उर्फ धुरी यादव हत्याकांड में मुहम्मद आमिर ने एसीजेएम आरके रैना की अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। न्यायालय ने उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। मालूम हो कि चिरंजीवी यादव उर्फ धुरी यादव की हत्या चार नवंबर 2019 को तातारपुर थाना क्षेत्र के उर्दू बाजार मुहल्ले में गोली मार कर दी गई थी। हत्या बाद पुलिसिया तफ्तीश में कई नाम आए। जिनमें मुहम्मद आमिर का भी नाम भी आया था। पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए लगातार प्रयास कर रही थी लेकिन सफलता नहीं मिल रही थी। शुक्रवार को आमिर ने न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस उसे रिमांड पर लेगी। इसको लेकर तातारपुर पुलिस सोमवार को अर्जी दाखिल कर सकती है।

धुरी यादव हत्याकांड में सुमन ने दी जमानत अर्जी

चिरंजीवी यादव उर्फ धुरी यादव हत्याकांड में जिला एवं सत्र न्यायाधीश अरविंद कुमार पांडेय की अदालत में सुमन कुमार ने जमानत अर्जी दी है। सोमवार को आरोपित सुमन कुमार की तरफ से अर्जी दाखिल की गई। मंगलवार को जमानत अर्जी पर सुनवाई होनी है। मालूम हो कि धुरी यादव की हत्या चार नवंबर 2019 को तातारपुर थाना क्षेत्र के उर्दू बाजार मुहल्ले में गोली मार कर दी गई थी। हत्या बाद पुलिसिया तफ्तीश में कई नाम आए, जिसमें सुमन कुमार का नाम भी शामिल था।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस