भागलपुर [रजनीश]। हर गांव में रेलवे ग्रामीणों को साथी (दोस्त) बना रहा है। इस अभियान का नाम 'ऑपरेशन साथी' दिया गया है। इसके पीछे रेलवे का मकसद बेगानों को जोड़कर रेल अपराध रोकना और सुरक्षित परिचालन है। भागलपुर-बांका-दुमका रेल सेक्शन पर इस अभियान की शुरुआत की गई है। इसके बाद दूसरे रेल सेक्शन पर यह अभियान चलेगा। इसमें कम से कम 10 लोगों को इससे जोडऩा है। रेलवे की इस सकारात्मक पहल की चर्चा गांव-गांव में हो रही है। लोग इस अभियान से जुड़ रहे हैं। दो सप्ताह में 168 लोगों को अभी साथी बनाया गया है।

भागलपुर-हसंडीहा-बांका-दुमका रेल सेक्शन पर मानव रहित रेल क्रासिंग पर अवैध पार करने, चेन पुलिंग और आपराधिक घटनाओं पर अंकुश लगाने को लेकर रेलवे ने विशेष पहल की है। इन इलाकों से हर दिन सैकड़ों की संख्या में छात्र कोचिंग में पढ़ाई करने आते हैं। इनमें से कई के घर स्टेशन या फिर रेल हाल्ट के पास पड़ते हैं। कोचिंग आने के लिए ज्यादातर छात्र पैसेंजर गाड़ी से चले आते हैं। वापसी में एक्सप्रेस ट्रेन में सवार होते हैं। हॉल्ट पर एक्सप्रेस ट्रेन नहीं रुकने की वजह से एक्सप्रेस गाडिय़ों को वैक्यूम कर रोक देते हैं। इससे जहां गाडिय़ां लेट होती हैं, वहीं रेलवे को राजस्व का घाटा भी होता है। इन्हीं सभी समस्याओं से निजात के लिए रेलवे ने संबंधित गांव के लोगों को ऑपरेशन साथी से जोडऩे का निर्णय लिया है।

बैनर के साथ पहुंच रही आरपीएफ की टीम

'ऑपरेशन साथी' की सफलता के लिए आरपीएफ की टीम गांव में बैनर-पोस्टर के साथ पहुंचती है। वहां किसी स्कूल या खुले मैदान में गांव के प्रमुख व्यक्ति के साथ गांव के लोग पहुंचते हैं। आरपीएफ के जवान सभी को रेलवे की संपत्ति का नुकसान नहीं पहुंचाने की सलाह देते हैं।

'रेलवे राष्ट्र संपत्ति है' का भी करा रहे बोध

आरपीएफ की टीम ग्रामीणों को रेलवे राष्ट्र की संपत्ति है का भी बोध कराते हैं। नए साथियों को स्टेशन, ट्रेन और रेलवे क्षेत्र में किसी भी तरह की गतिविधियों के लिए 182 नंबर पर फोन करने की भी सलाह दे रहे हैं।

इन गांवों के लोगों को जोड़ा गया

आरपीएफ ने बाराहाट, मंदारहिल, जगदीशपुर, बारापलासी, गोनूधाम, मदनपुर, नौनीहाट, हंसडीहा और गंगवारा गांव और स्टेशनों को ऑपरेशन साथी से जोड़ा गया है।

ऑपरेशन साथी की शुरुआत भागलपुर-हंसडीहा-दुमका-बांका रेल सेक्शन पर किया गया है। कई लोग साथी बने हैं। रेलवे क्षेत्र के सभी गांवों को जोडऩा है। -अनिल कुमार सिंह, इंस्पेक्टर, आरपीएफ

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस