बेगूसराय। सोमवार की देर शाम अपराधियों ने नावकोठी थानाक्षेत्र के समसा गांव स्थित विश्वकर्मा चौक के समीप समसा वार्ड 17 निवासी रामसागर महतो की 45 वर्षीय पत्नी बबन देवी की हत्या कर दी। महिला अपने घर से विश्वकर्मा चौक स्थित डेरा पर जा रही थी। इसी क्रम में घात लगाए अपराधियों ने उनके पेट, पंजरे व सीने में तीन गोली मार दी। गोली लगते ही मौके पर ही उनकी मौत हो गई। गोलीबारी के बाद जहां स्थानीय लोग अपने-अपने घरों में दुबक गए, वहीं हत्यारे मौके से फरार हो गए। हत्या का कारण गोतिया से भूमि विवाद बताया जाता है।

मिली जानकारी के अनुसार बीते एक वर्ष से घर बनाने को लेकर उनका अपने गोतिया से विवाद चल रहा था। फिलवक्त दोनों के बीच केस मुकदमा भी चल रहा है। पति रामसागर महतो परदेस में रहकर मजदूरी करते हैं। घटना की जानकारी मिलते ही स्वजनों की चीख पुकार से माहौल गमगीन हो गया। घटना की सूचना मिलते ही जूनियर सब इंस्पेक्टर जुल्फिकार अली दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे एवं हत्या के कारणों का पता लगाने में जुट गए। घटना से पंचायत के लोग दहशत में हैं। पुलिस घटनास्थल पर कैंप कर रही है। एक बार फिर समसा में अपराधियों द्वारा महिला की हत्या की गई है। लगभग डेढ़ वर्ष पूर्व सरस्वती माता की प्रतिमा विसर्जन के दौरान बदमाशों ने स्थानीय महिला मुखिया हेमा मौर्य की हत्या कर दी थी। हेमा मौर्य की हत्या राजनीतिक हत्या करार दिया गया था, लेकिन बबन देवी की हत्या भूमि विवाद के कारण हुई है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मंगलवार की सुबह पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है। पुलिस स्वजनों के बयान पर प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया में लगी है। महिला की हत्या मामले में प्राथमिकी दर्ज

हत्या मामले में प्राथमिकी जेठ रामभरोस महतो ने दर्ज कराई। उन्होंने गांव के ही अवधेश महतो, दिलीप महतो एवं आशा देवी को मामले में आरोपी बनाया है। दर्ज प्राथमिकी में कहा गया है कि आरोपितों के साथ घर की जमीन के बंटवारा को लेकर काफी दिनों से विवाद चल रहा था। इस विवाद में दोनों पक्षों पर न्यायालय में मुकदमा चल रहा है। विवाद के कारण सभी आरोपितों ने बबन देवी को गोली मारकर सोमवार की रात हत्या कर दी। थानाध्यक्ष राजीव रंजन कुमार ने मामला दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी है।

Edited By: Jagran