बेगूसराय [जेएनएन]। बेगूसराय के बलिया में एक 'मुर्दा' 10 लाख की रंगादरी मांगता था। इसके लिए वह मोबाइल से फोन कर धमकी देता था। पीडि़त ने पुलिस से संपर्क किया तो मामले का उद्भेदन हुआ। दरअसल, एक शातिर व्यक्ति मृतक के नाम पर सिमकार्ड लेकर कॉल करता था।
नगर पंचायत बलिया की मुख्य पार्षद चंपा देवी के पति सुनील शर्मा से 10 लाख रुपये रंगदारी मांगने के मामले का पुलिस ने उदभेदन कर लिया है। पुलिस ने इस मामले में बडी बलिया निवासी मिथुन कुमार, अनिल कुमार पोद्दार व मो. कासिम को गिरफ्तार किया है। उनके पास रंगदारी में प्रयुक्त मोबाइल को भी जब्त किया है।

अपहृत छात्रा को बरामद करने गई पुलिस, देखा तो उड़ गए होश
थानाध्यक्ष त्रिलोक कुमार मिश्रा ने बताया कि जिस नंबर से रंगदारी मांगी गई, वह विंदेश्वरी चौधरी के नाम से अलॉट है, जिसकी तीन वर्ष पूर्व ही मौत हो चुकी है। अनिल कुमार पोद्दार ने मोबाइल दुकानदार मिथुन कुमार से विंदेश्वरी चौधरी के नाम से फर्जी तरीके सिम ले लिया। अनिल कुमार ने सिम को पान दुकानदार मो. कासिम को 150 रुपये बेच दिया। कासिम उससे बात करता था। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया।

आर पार के मूड में IAS अधिकारी, BSSC चेयरमैन की रिहाई को लेकर सड़क पर उतरे
गौरतलब है कि करीब एक माह पूर्व नगर पंचायत बलिया की मुख्य पार्षद के पति सह शेरनचक निवासी सुनील शर्मा से 10 लाख रुपये रंगदारी मांगने तथा हत्या की धमकी दी गई थी। इस मामले में अज्ञात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस