बेगूसराय : प्रखंड के मेघौल गांव के समीप बूढी गंडक नदी के बाएं तटबंध में विगत दो दिनों से कटाव तेज हो गया है। मेघौल गांव के पछियारी सहनी टोला के समीप करीब सौ फीट की लंबाई में अचानक रविवार की रात से तटबंध में तेज कटाव होने लगा। कटाव को देखकर बांध के तटवर्ती क्षेत्र में रह रहे लोग भयभीत हो गए। ग्रामीणों ने इसकी सूचना स्थानीय मुखिया पुरुषोत्तम सिंह को दी। मुखिया द्वारा तत्क्षण रात्रि में ही तटबंध का निरीक्षण कर हालात की गंभीरता को देखकर इसकी सूचना बाढ प्रमंडल रोसड़ा के कनीय अभियंता रामनरेश सिंह को दी। सूचना पाकर कनीय अभियंता रामनरेश सिंह ने कटाव स्थल का निरीक्षण किया तथा तत्काल संवेदक को कटाव स्थल पर कटाव निरोधक कार्य तेज करने का आदेश दिया। संवेदक द्वारा कटाव स्थल पर निरोधात्मक कार्य किए जा रहे हैं। जेई ने बताया कि कटाव स्थल पर बंबू पाइलिग कर उसके अंदर लकड़ी का झंगा डालकर तत्काल कटाव को रोका जा रहा है। इसके बाद यहां पर मिट्टी भरकर एनसी कैरेट की पाइलिग कर कटाव को रोका जाएगा। उन्होंने बताया कि स्थिति नाजुक है, लेकिन पूरी तरह नियंत्रण में है। बचाव कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। बताते चलें कि नदी में कटाव दो समय तेजी से होता है जब नदी का जलस्तर बढ़ रहा होता है अथवा जब पानी घट रहा होता है। अभी नदी में पानी के घटने का सिलसिला लगातार जारी है। इसी को लेकर उक्त स्थल पर कटाव हो रहा है। कटाव स्थल के समीप बांध के अंदर नदी के साइड से स्थानीय श्याम सहनी, रामचंद्र साहनी, अशर्फी साहनी, रामलाल साहनी का घर है, जिसे खाली करा लिया गया है। जेई ने बताया कि लोगों को भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है। विभाग सतर्क है और फ्लड फाइटिग स्कीम के तहत कटाव निरोधी कार्य युद्ध स्तर पर किए जा रहे हैं।

Edited By: Jagran