बेगूसराय। नगर थाना क्षेत्र के सुभाष नगर निवासी स्व. अकलू पासवान के 40 वर्षीय दिव्यांग पुत्र वरूण पासवान की हत्या में शामिल एक शूटर की पहचान कर ली गई है। स्वजनों से पूछताछ के आधार पर पुलिस हत्या के कारणों की पड़ताल में जुटी है। स्वजनों ने पुलिस को एसबीएसएस कालेज के समीप स्थित दुकान से संबंधित विवाद की जानकारी दी है वहीं कालेज के नामांकन व अन्य गतिविधियों में वरूण की दिलचस्पी समेत अन्य पहलुओं की बारीकी से जांच पड़ताल की जा रही है। घटना के 21 घंटे बाद तक स्वजनों को फर्द बयान दर्ज नहीं होने के कारण देर शाम तक प्राथमिकी दर्ज नहीं हो सकी है।

बताते चलें कि शनिवार की रात करीब नौ बजे अपाचे बाइक सवार तीन बदमाशों ने वरूण को उस समय गोली मार दी, जब वे एसबीएसएस कालेज के सामने एनएच-31 के सर्विस लेन में कुर्सी पर बैठे थे। हत्यारों ने संभलने का भी मौका नहीं दिया और सिर व मुंह में तीन गोली मार कर मौत की नींद सुला दी। हत्या की जानकारी मिलते ही नगर थानाध्यक्ष रामनिवास, रतनपुर ओपीध्यक्ष परशुराम सिंह ने घटनास्थल के समीप स्थित एक निजी क्लिनिक के सीसीटीवी फुटेज की जांच पड़ताल की है वहीं मृतक के मोबाइल का डिटेल खंगाला जा रहा है। मौके पर पहुंचे सदर डीएसपी अमित कुमार ने भी स्वजनों से पूछताछ कर हत्या के कारणों व हत्या में शामिल अपराधियों के संबंध में जानकारी जुटाई है। इधर रात साढे ग्यारह बजे पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा और देर रात ही पोस्टमार्टम के बाद स्वजनों को सौंप दिया। घटना के बाद से बूढी मां को रो-रो कर हाल बेहाल है। स्थानीय लोग बताते हैं कि बूढी मां का वरूण ही सहारा बना था, उनके पिता की मौत कुछ साल पूर्व हो चुकी है। हत्या को लेकर टोले-मोहल्ले में तरह-तरह की चर्चा है।

कहते हैं डीएसपी : इस संबंध में सदर डीएसपी अमित कुमार ने बताया है कि हत्या का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। स्वजनों से पूछताछ में दुकान के विवाद समेत कई अन्य मामले सामने आए हैं। हालांकि सीसीटीवी फुटेज के आधार पर एक शूटर की पहचान कर ली गई है, शूटर को गिरफ्तार करने के लिए लगातार संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है।

Edited By: Jagran