बेगूसराय। बुधवार को भाकपा बखरी शाखा की बैठक सुरेश साह की अध्यक्षता में हुई। बैठक में 25 अक्टूबर को पटना में आहूत पार्टी की रैली को सफल बनाने पर विचार विमर्श किया गया। बैठक को संबोधित करते हुए अंचल मंत्री शिव सहनी ने कहा, बखरी में भाकपा का गठन जमींदारों के आतंक तथा बेगारी प्रथा के खिलाफ हुआ था। हमें अपने उसी विरासत को बनाए रखना है। देश आज उसी मानसिकता के दौर से गुजर रहा है। पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की रोज बढ़ती कीमतों ने आमलोगों का जीना दुश्वार कर दिया है। देश की सत्ता कारपोरेट घरानों के हाथों में खेल रही है। उन्हें गरीब किसानों, मेहनतकश मजदूरों से कोई लेना-देना नहीं है। धर्म और जाति के नाम पर देश के लोगों को बांटकर राजनीतिक रोटी सेंकी जा रही है। सूबे की नीतीश कुमार और भाजपा की सरकार तानाशाही हो गई है। राज्य में अपहरण, लूट और हत्या का बाजार गर्म है। बेटियों की इज्जत आबरू खतरे में है। इसलिए भाजपा हटाओ देश बचाओ के नारों को लेकर उक्त रैली आहूत की गई है। जिसमें बखरी के सैकड़ों क्रांतिकारी नौजवान भाग लेंगे। बैठक में शाखा मंत्री अशोक केशरी, सुरेश सहनी, द्रवेश्वर सहनी, महेंद्र तांती, राजेंद्र शर्मा, अख्तर हुसैन, शिवजी सदा, अनरसा देवी, जगदंबा देवी, रामउदगार तांती, दिलीप सहनी आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran