बेगूसराय : प्रखंड के बरियारपुर पश्चिमी गांव में एक कलयुगी इकलौता पुत्र ने अपने वृद्ध माता-पिता को मारपीट कर घर से निकाल दिया। अब यह दंपती न्याय पाने के लिए दर दर भटक रहे हैं। बरियारपुर पश्चिमी पंचायत के वार्ड दस निवासी 65 वर्षीय जगदीश साह एवं उनकी 60 वर्षीय पत्नी कृष्णा देवी अपने इकलौते पुत्र पप्पू साह तथा पुत्रवधू रेणु देवी के आतंक से मारे-मारे फिर रहे हैं। अपनी ही संपत्ति से बेदखल कर दिए गए इस दंपती ने खोदावंदपुर पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है। पीड़ित जगदीश साह पुलिस को बताया है कि उनका इकलौता पुत्र खाना नहीं देता है और घर में रहने भी नहीं देता है। अपनी मां के साथ मारपीट करता रहता है। मारपीट करने में उसका तीनों पोता कन्हैया कुमार, मनीष कुमार और आनंद कुमार भी अपने माता-पिता का ही साथ देता है।

इस संबंध में जगदीश साह ने बताया है कि उन्होंने अपने नाम से डेढ़ कट्ठा जमीन खरीदी थी। उक्त जमीन पर घर भी बनवाया था। जमीन खरीदने और घर बनाने में उसने लोगों से कर्ज लिए। जब उसका कमाऊ पुत्र कर्ज नहीं चुका पाया और उन्हें खाना-पीना देना बंद कर दिया तो विवश होकर उन्होंने वर्ष 2017 की 24 जुलाई को उक्त जमीन में से 10 धूर जमीन अपने गांव के ही मिथिलेश कुमार साह की पत्नी रेखा कुमारी को लिख दिया। इस घटना के बाद से पुत्र व पुत्रवधू हमदोनों पति-पत्नी को प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। इस संबंध में थानाध्यक्ष सुदीन राम ने बताया कि मामले की जांच पड़ताल की जा रही है। पीड़ित वृद्ध दंपती को न्याय दिलवाया जाएगा।

Edited By: Jagran