बेगूसराय : डीएम अरविद कुमार वर्मा ने कृषि विभाग के अधिकारियों को अन्य विभाग के अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लंबित मामलों के अविलंब निष्पादन का निर्देश दिया है। वे मंगलवार को समाहरणालय स्थित कारगिल विजय भवन में जिला कृषि टास्कफोर्स की बैठक को संबोधित कर रहे थे। समीक्षा के दौरान कृषि समन्वयकों के पास प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लंबित 1448 आवेदनों को एक सप्ताह के अंदर निष्पादित कराने तथा संबंधित प्रखंड कृषि पदाधिकारियों को अंचलाधिकारियों से समन्वय स्थापित कर लंबित 1283 आवेदनों को भी निष्पादित कराने का निर्देश दिया। जबकि जिला कृषि पदाधिकारी को अपर समाहर्ता के साथ समन्वय स्थापित कर लंबित 241 मामलों का निष्पादन कराने को कहा।

जल जीवन हरियाली अभियान के तहत जल संरचना ईकाइयों के निर्माण की धीमी प्रगति पर डीएम ने असंतोष जताया तथा इसको ले निर्धारित लक्ष्य 234 के विरुद्ध अब तक सिर्फ 139 स्वीकृति पत्र निर्गत किए जाने पर भी क्षोभ जताया। बैठक में जैविक कृषि क्रियान्वयन की समीक्षा के क्रम में जानकारी दी गई कि वर्तमान में कुल 27 समूहों का गठन किया गया है। जिसमें 1779 किसान शामिल हैं। इन किसानों में से करीब 30 प्रतिशत किसानों ने जैविक कॉरिडोर का निर्माण कर लिया है।

बैठक में जिला कृषि पदाधिकारी राजेश प्रताप सिंह ने कहा कि गत वर्ष के मुकाबले चालू वर्ष में जुलाई के दौरान वर्षापात में 49.46 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है। जबकि जून में गत वर्ष की अपेक्षा अधिक वर्षा दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2021-22 के दौरान धान, मक्का, अरहर, सोयाबीन आदि के लिए कुल 01 लाख 12 हजार 235 हेक्टेयर इकाई का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, जिसके विरुद्ध अब तक 83075.38 हेक्टेयर फसल आच्छादित किया जा चुका है। बैठक में एलडीएम मोती कुमार, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी भुवन कुमार समेत सभी प्रखंड कृषि पदाधिकारी व विभाग के अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

Edited By: Jagran