बेगूसराय। मजदूर एकता केंद्र, बरौनी थर्मल पावर मजदूर यूनियन की संयुक्त बैठक बरौनी हर्ल के मैदान में राजकिशोर ¨सह की अध्यक्षता में हुई। बैठक में बरौनी थर्मल एवं पुंज लॉयड के एनएच प्रोजेक्ट में कार्यरत सैकड़ों श्रमिकों के विभिन्न समस्याओं एवं मांगों पर आगे की रणनीति के लिए विचार विमर्श किया गया। इसके तहत एनएच 31 प्रोजेक्ट में काम करा रही कंपनी पुंज लॉयड में कार्यरत श्रमिकों ने संगठन से लिखित गुहार लगाई कि कंपनी द्वारा न्यूनतम मजदूरी कार्य अवधि के अनुरूप नहीं दी जा रही है। ईएसआइ कटौती के बावजूद उसका लाभ नहीं मिल रहा। कंपनी द्वारा ना कोई पहचान पत्र दिया जा रहा और ना ही कार्य अवधि साबित करने के लिए हाजरी कार्ड दिया जा रहा है। छुट्टी भी नहीं मिलती है। इस स्थिति में संगठन से हस्तक्षेप करने का आग्रह मजदूरों ने किया। स्थानीय श्रमिकों की अधिकतम भागीदारी के लिए संगठन द्वारा शिविर आयोजन के लिए लिखित आग्रह पर हर्ल प्रबंधन द्वारा दिए गए आश्वासन पर विचार किया गया। साथ ही निर्माण कार्य में स्थानीय मजदूरों की उचित भागीदारी तथा कानून सम्मत लाभ के लिए संगठन प्रतिबद्ध है। बरौनी थर्मल में प्रबंधन द्वारा विभिन्न समझौते के अनुपालन में लगातार हो रहे टालमटोल पर सभी पदाधिकारियों ने क्षोभ प्रकट किया। पूर्व संरक्षक शंभू कुमार ने कहा, केंद्र सरकार द्वारा घोषित श्रमेव जयते का संपूर्ण लाभ सुनिश्चित करने के लिए प्रधानमंत्री के भ्रष्टाचार मुक्त भारत के साथ हर पदाधिकारी आगे बढ़ें। इस मुहिम के साथ हमलोग बेगूसराय के विभिन्न उद्योगों एवं निर्माण कार्य से जुड़े ठेका श्रमिकों को शतप्रतिशत श्रम अधिकार के लिए आगे बढ़ेंगे। बैठक में बरौनी थर्मल पावर मजदूर यूनियन के महामंत्री शंकर शर्मा, सह सचिव शशिभूषण अध्यक्ष राजेश पटेल सहित अन्य पदाधिकारी, साथ में मजदूर एकता केंद्र के महामंत्री राजकिशोर ¨सह, अध्यक्ष अजीत राय, संगठन मंत्री राजेश कुमार, कोषाध्यक्ष चंदन कुमार, उमेश ¨सह, सुनील कुमार, मधुसूदन ¨सह, शत्रुघ्न ¨सह, केशव, सुशील आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran