बेगूसराय। छौड़ाही ओपी के नारायणपीपर पनसल्ला गांव से छौड़ाही बाजार आ रही नाबालिग छात्रा का आठ दिन पहले अपहरण कर लिए जाने के बाद से छात्रा का अब तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है। छौड़ाही पुलिस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर हाथ पर हाथ धरे बैठी है। इधर नामजद आरोपितों द्वारा छात्रा के पिता को तरह-तरह की धमकियां दी जा रही है। पीड़ित परिवार दहशत के साए में जी रहा है। अनहोनी की आशंका से सभी सहमे हुए हैं। ग्रामीणों भी छात्रा की अब तक बरामदगी नहीं होने एवं अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होने से आक्रोशित हैं। डीएसपी ने बुधवार को दहशत के साए में जी रहे छात्रा के परिजनों से मुलाकात की एवं जल्द बरामदगी का भरोसा दिलाया।

सनद रहे कि इसी गांव के एक विद्यालय से छात्रा का अपहरण कर रहे तीन अपराधी को ग्रामीणों ने पीटकर हत्या कर दी थी। किस हाल में हैं हमारी रौशनी

प्रखंड के पनसल्ला निवासी एक शिक्षक ने अपनी नाबालिग पुत्री के अपहरण के संबंध में छौड़ाही ओपी में मामला दर्ज कराया है। इंटर की छात्रा 16 वर्षीय रोशनी परवीन विगत आठ दिन पहले मंगलवार की शाम छौड़ाही बाजार खरीदारी के लिए गई थी। देर शाम तक नहीं लौटने के बाद परिजनों ने काफी खोजबीन की। आठ दिन बाद भी पुलिस छात्रा का पता नहीं लगा सकी है। छात्रा के परिजनों में मातम छाया हुआ है। उनकी मां रो-रोकर बेहाल हैं। बताती हैं कि गलत नीयत से उसकी बेटी का अपहरण कर लिया गया है। आठ दिनों से लाख गुहार के बावजूद भी पुलिस हमारी बेटी को खोज नहीं पाई है। अनहोनी की आशंका प्रबल हो गई है। कहते हैं डीएसपी

इस संदर्भ में डीएसपी सूर्यदेव कुमार ने पीड़ित परिवार से मुलाकात कर घटना के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उनका कहना है कि अनुसंधानकर्ता को हिदायत देकर बालिका की बरामदगी के लिए तत्काल छापेमारी प्रारंभ कर दी गई है। इस संवेदनशील मामले को सुलझाने के लिए लगातार उपाय किए जा रहे हैं।

Posted By: Jagran