बेगूसराय। बरौनी थर्मल पावर स्टेशन के पुराने प्लांट के मुख्य द्वार के पास भेल कार्यालय के समीप शनिवार की दोपहर अचानक अमोनिया गैस सिलेंडर के फट जाने की वजह से भेल के पदाधिकारी व मजदूर समेत 14 लोग बेहोश हो गये। घटना के बाद आसपास हड़कंप मच गया। लोग बेहोश होकर गिरने लगे। डीएसपी सदर ने बताया कि बेहोश होने वालों में चार की हालत नाजुक बनी हुई है। किसी तरह बेहोश हुए लोगों को एलेक्सिया अस्पताल में भर्ती कराया गया।

भेल भोपाल कार्यालय के समीप थर्मल का पुराना स्टोर है। स्टोर में जमीन के नीचे अमोनिया गैस भरा सिलिंडर दबा हुआ था, जो अचानक ब्लास्ट कर गया। सिलिंडर फटने पर धमाका इतना तेज हुआ कि लोगों में अफरा-तफरी मच गयी। विषैले गैस से भेल के जीएम पटना निवासी डी. तिवारी, डीजीएम एमएस अख्तर, सीनियर कंस्ट्रक्सन मैनेजर एनआरआइ खान, एचके सुंडी, सतनाम कंपनी के साइट इंचार्ज बीके दत्ता, सुपरवाइजर रामविलास सिंह, सौरभ शर्मा, गोपाल सिंह, चंदन कुमार, भोला राम, चालक मलहीपुर निवासी अली हुसैन, रामदरस, रत्नेश कुमार सिंह, मधुरेन्द्र कुमार बेहोश हो गए।

एलेक्सिया अस्पताल के निदेशक डॉ. धीरज शांडिल्य ने बताया कि सभी बेहोश कर्मचारी खतरे से बाहर हैं। वहीं भेल के जीएम डी. तिवारी ने होश आने पर बताया कि कार्यालय में पदाधिकारियों के साथ बैठक चल रही थी, तभी अचानक जोरदार धमाका हुआ, जिससे सभी लोग बाहर देखने के लिए निकले और गैस की चपेट में आकर बेहोश हो गये। इधर बरौनी थर्मल के महाप्रबंधक डॉ. एके श्रीवास्तव ने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है। कोई बड़ी घटना नहीं हुई। वहीं इस बाबत पूछे जाने पर सदर डीएसपी राजकिशोर सिंह ने बताया कि बेहोश हुए लोगों में चार की हालत गंभीर होने की सूचना मिली है। बाकी लोगों को होश आ गया है।

Posted By: pradeep Kumar Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस