बेगूसराय। सदर डीएसपी अमित कुमार के नेतृत्व में गठित विशेष छापामार दल ने शुक्रवार की रात गुप्त सूचना के आधार पर मटिहानी थाना क्षेत्र के सिंहमा निवासी रौशन सिंह के पुत्र शुभम कुमार उर्फ खखरा को गंगा दियारा से गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में इसने बमबम की हत्या समेत बलिया व लाखो में लूट की कई घटनाओं में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। पुलिस स्पीडी ट्रायल के माध्यम से जल्द सजा दिलाएंगी। उक्त बातें एसपी योगेंद्र कुमार ने शनिवार को अपने कार्यालय प्रकोष्ठ में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान कहीं। उन्होंने छापेमार टीम में शामिल पुलिस पदाधिकारियों को पुरस्कृत करने की घोषणा भी की।

प्रेम प्रसंग में हुई थी बमबम की हत्या :

एसपी योगेंद्र कुमार ने बताया कि बीते तीन दिसंबर को मुफस्सिल थाना क्षेत्र के वासुदेवपुर निवासी पकौड़ी सिंह के पुत्र बमबम कुमार को शहर के महिला कालेज के पास गोली मारी गई थी। इलाज के दौरान उनकी मौत पटना में हो गई। इस मामले में बीते 22 दिसंबर को ही बमबम की प्रेमिका मुंगेर निवासी कोमल कुमारी को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। पूछताछ में प्रेमिका ने गोलीबारी में अपने वीरपुर निवासी प्रेमी समेत शूटर के संबंध में जानकारी दी थी। शुक्रवार की रात गुप्त सूचना के आधार पर गिरफ्तार कर लिया गया। छापेमार दल में नगर थानाध्यक्ष रामनिवास, मटिहानी थानाध्यक्ष विवेक भारती, रतनपुर ओपीध्यक्ष परशुराम सिंह शामिल रहे।

बलिया में हुई दो लूट की घटना का खुलासा :

बीते 16 अक्टूबर को अपराधियों ने बलिया थाना क्षेत्र के एनएच- 31 पर पटना से भागलपुर जा रही पिकअप वाहन की लूट की थी। बाइक सवार दो बदमाशों ने पिकअप पर लदा रिलायंस जीओ टावर का सामान लूट लिया था। इस संबंध में फतुहा के मौजीपुर निवासी पिकअप चालक राकेश कुमार ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी। वहीं बीते आठ दिसंबर को बाइक सवार तीन बदमाशों ने शाम्हो से अपने ससुराल जा रहे राकेश कुमार की बाइक बरियारपुर बांध के समीप लूट ली थी। गिरफ्तार अपराधी ने दोनों लूट की वारदात में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। पुलिस उसके साथियों व लूट के सामान की बरामदगी के लिए संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

मुफस्सिल के दो घटना का भी पर्दाफास :

बीते 24 नवंबर की शाम छह बजे बाइक सवार तीन अपराधियों ने लाखो ओपीक्षेत्र के पनसल्ला के पास पिस्तौल के बल पर मोबाइल व बाइक लूट लिया था। इस संबंध में रिफाइनरी ओपी के महना निवासी महेश प्रसाद ने मुफस्सिल थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। बीते छह फरवरी 2020 को मुफस्सिल थाना क्षेत्र के विशनपुर चतुर्भुज काली मंदिर के पास गोलीबारी के बाद शुभम उर्फ खखरा को अपने दोस्त राजा व सुजय के साथ हथियार समेत गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में जेल से जमानत पर बाहर आने के बाद दुबारा अपराध करने लगा। इसके अलावा गिरफ्तार अपराधी के खिलाफ बीते 10 अप्रैल 2021 को सिंहमा वार्ड छह स्थित सीएसपी संचालक आनंद कुमार से रंगदारी मांगने व हथियार के बल पर 20 हजार लूट का मामला भी दर्ज है।

Edited By: Jagran